नगर निगम के पास 40 दिन मात्र, तिजोरी में लाने 7.50 करोड़ ...जानें पूरा मामला

- सरकार ने जारी की छूट

- नगर निगम यूडी टैक्स वसूली अभी मात्र 4.88 करोड़

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 17 Feb 2019, 01:02 PM IST

मुकेश हिंगड़/उदयपुर. नगरीय विकास शुल्क (यूडी) टैक्स वसूलने के मामले में नगर निगम के सामने इस बार बड़ी चुनौती है। पिछले वर्ष के मुकाबले निगम टैक्स वसूलने में बहुत पीछे है। अभी निगम की तिजोरी में करीब 4.88 करोड़ रुपए ही जमा हुए, जबकि यह आंकड़ा ज्यादा होना था। पिछले वर्ष ही निगम ने करीब 12.49 करोड़ रुपए वसूले थे। अब टैक्स वसूलने की अंतिम तिथि से पहले निगम के पास करीब 35 से 40 दिन शेष है। टैक्स वसूली को लेकर निगम का लक्ष्य बहुत कम पूरा हुआ तो निगम का जोर था कि शेष महीने में टैक्स वसूल लेंगे लेकिन पिछले वर्षों में फरवरी तक बड़ी मात्रा में वसूली होती आई है। निगम टैक्स के ब्याज में छूट का भी इंतजार कर रहा था। सरकार ने छूट के आदेश भी निकाल दिए है। ऐसे में अब निगम की यूडी टैक्स से तिजोरी भरने को लेकर टीम बनाकर सभी को लक्ष्य भी आवंटित करने की तैयारी की जा रही है। यूआईटी ओएसडी ओपी बुनकर ने जब आयुक्त की जिम्मेदारी संभाली तो उन्होंने टैक्स वसूली को लेकर तेजी के लिए कहा, लेकिन खाऊ गली, उदयपुर चौपाटी की कार्रवाई और बोर्ड बैठक की तैयारी से राजस्व स्टाफ का काम गति नहीं पकड़ पाया।

इनसे वसूलेंगे
शहर में 2700 वर्ग फीट आवासीय और 900 वर्ग फीट व्यावसायिक भूखंड धारियों से यूडी टैक्स लिया जाता है। निगम ने तैयारी की है। सूची बनाई है कि जो टैक्स के दायरे में आ रहे है और टैक्स जमा नहीं करवा रहे है उनके खिलाफ बैंक खाते सीज कराने व कुर्की की कार्रवाई करेंगे।

 

READ MORE : लेकसिटी में ठेला माफिया : रोजाना होती है डेढ़ से दो लाख की अवैध वसूली


टैक्स में पीछे रहने के कारण ये बता रहे
- राजस्व सेक्शन में लगे कार्मिकों को दूसरे काम दे रखे
- ऐसे में कर वसूली के काम पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं
- अतिक्रमण व अवैध निर्माण में सहायक राजस्व निरीक्षकों को लगा दिया तो वे समय नहीं दे पा रहे
- कई कर देने वाले छूट की इंतजार कर रहे हैं
- टैक्स का काम संभालने वाली राजस्व निरीक्षक तरंग यादव के वीआरएस लेने के बाद गति कमजोर हुई
- आयुक्त के तबादला होने के बाद, नए आयुक्त के आने तक निगरानी कमजोर हुई।

एकमुश्त जमा कराने पर अब छूट
राज्य सरकार ने 13 फरवरी को अधिसूचना जारी कर दी, इसमें यूडी टैक्स में छूट का प्रावधान किया गया। आदेश के तहत 31 मार्च, 2019 तक एकमुश्त नगरीय विकास शुल्क जमा कराने पर ब्याज व शास्ति पर 50 प्रतिशत छूटी देय होगी।

इनका कहना है...
हमने यूडी टैक्स में आने वालों, होटलों, अस्पतालों व व्यवसायिक सम्पत्तियों की सूची तैयार की है, इसमें एक लाख से ज्यादा बकाया वाले है, उनको नोटिस देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, कार्रवाई की जाएगी, इसमें कुर्की तक की जा सकती है। ओपी बुनकर, आयुक्त, नगर निगम

आंकड़ा दस करोड़ पार ही था
वर्ष टैक्स : वसूली
2015-16 : 10.19
2016-17 : 10.73
2017-18 : 12.49
2018-19 : 4.88 (15 फरवरी 19 तक)
(राशि करोड़ में)

Show More
Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned