उदयपुर पुलिस ने आठ घंटे बाद ही किया चौकीदार की हत्या का राजफाश... हत्‍यारों ने इस वजह से उतारा मौत के घाट

www.patrika.com/rajasthan-news

By: madhulika singh

Published: 15 Nov 2018, 02:52 PM IST

मो. इलियास/उदयपुर . सविना थाना क्षेत्र के ति‍तरड़ी स्थित रॉयल लोट्स अपार्टमेंट में मंगलवार रात हमलावरों ने हाथ-पैर बांध एक चौकीदार की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने वारदात के महज 8 घंटे बाद ही इसका खुलासा कर मुख्य आरोपी सहित तीन जनों को गिरफ्तार किया। मामले में तीन और फरार है जिनकी तलाश जारी है।

पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि रॉयल लोट्स अपार्टमेंट में तैनात चौकीदार ठिकरिया चारणान बूंदी निवासी नटवरसिंह (45) पुत्र महेन्द्रसिंह चारण की हत्या के मामले में सीआई संजीव स्वामी, आदर्श कुमार व गोवर्धनसिंह भाटी मय टीम ने सूरजपोल हाल रॉयल लोट्स अपार्टमेंट निवासी दिलीप पुत्र सोहनलाल रेगर, रजानगर सूरजपोल निवासी अशफाक पुत्र मुबारिक शेख व खांजीपीर निवासी वसीम उर्फ चिंटू पुत्र इश्तिहका खां को गिरफ्तार किया। मामले में मुन्ना, मनीष व राजा को नामजद किया है जिनकी तलाश जारी है। पुलिस ने आरोपी दिलीप के फ्लेट की तलाशी तो वहां 14 मोबाइल व महंगी शराब की सौ खाली बोतलें मिली हैंं। मोबाइल में उसने सभी के नाम कोड वर्ड में सेव कर रखे थे।

10-10 हजार देकर राजी किया साथियों को

पुलिस ने बताया कि आरोपी दिलीप वैसे तो ट्यूर एवं टैवल्स का काम करता था लेकिन वह हकीकत में अवांछित गतिविधियों में लिप्त था। देर रात को उसके साथी अपार्टमेंट में हो-हल्ला करते थे। चौकीदार ने रोका-टोकी भी की तथा आरोपी की कैमरे में कैद गतिविधियों को अपार्टमेंट के लोगों को दिखाया। लोगों ने उसे मना किया तो वह झगड़े पर उतारू हो गया। सभी ने सविना थाने में दो दिन पूर्व इसकी शिकायत कर दी। पुलिस ने इसे पकड़़कऱ पाबंद किया। आरोपी दिलीप अपार्टमेंट के लगे कैमरे में उसकी गतिविधियों के कैद होने पर उसने चौकीदार नटवर सिंह से कैमरों की डीवीआर भी मांगी। मना करने पर उसने साथियों को बताते हुए उन्हें 10-10 हजार रुपए देकर हत्या के लिए राजी किया।

डेढ़ घंटे बाद ही पुलिस को मिल गई थी सूचना

आरोपी दिलीप रात को अपने पांच साथियों के साथ ही रात करीब 2.15 बजे अपार्टमेंट पहुंचा। सबसे पहले उसने वहां लगे सीसीटीवी कैमरे व एलइडी के तार कटर से काटे। बाद में चौकीदार के पास जाकर डीवीआर मांगी। मना करने पर साथियों की मदद से उसे उठा कर गार्ड रूम में ले गया, जहां मारपीट कर उसके हाथ-पैर बांधे तथा तकिये से मुंह दबाकर हत्या कर दी। वारदात के बाद आरोपियों ने अलग-अलग जगह सामान फेंक दिया। रात करीब 3.50 बजे सूचना मिलते ही एसपी के अलावा एएसपी पारस जैन सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। एफएसएल टीम अभयप्रतापसिंह के साथ ही डॉग स्कवायड टीम भी वहां आई।

 

READ MORE : video : उदयपुर शहर से गुलाबचंद कटारिया ने भरा नामांकन, बोले, टि‍कट कटने पर जो बवाल मचा था, वह कुछ ही क्षण में थम भी गया

 

डॉग स्कवायड से भी मिले अहम सुराग

- डॉग स्कवायड को कमरे में वायर काटने का कटर मिल गया।

- कुछ दूरी पर ही झाडिय़ों में यूपीएस व अन्य सामान मिले।
- गार्ड रूम में मिली खून से सनी चद्दर व तकिये पर डॉग स्कवायड के वहीं घूमने पर पुलिस को शक हुआ।

- दो दिन पहले हुए झगड़े के आधार पर पुलिस ने दिलीप को तलाशा तो वह फरार मिला।
- पुलिस ने दबिश देकर पकड़ा तो उसने पूरा घटनाक्रम उगल दिया।

- आरोपी दिलीप की गिरफ्तारी के बाद से पूरे अपार्टमेंट वाले स्तब्ध रह गए।

तीन दिन पहले ही लगा था चौकीदार अपार्टमेंट में

बूंदी निवासी नटवरसिंह उदयपुर में महावीर सिक्योरिटी एजेंसी में काम करता था। अपार्टमेंट के चौकीदार द्वारा छुट्टी जाने पर तीन दिन पहले ही उसे वहां लगाया गया था। पुलिस ने मृतक के भतीजे विशालसिंह की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज कर मृतक के परिजनों को बंूदी सूचना भिजवाई। परिजन देर रात उदयपुर पहुंचे। गुरुवार को मृतक का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned