मायरा की गुफा का होगा जीर्णोद्धार

महाराणा प्रताप की शस्त्रागार रही थी

By: surendra rao

Published: 25 Feb 2021, 06:59 PM IST

गोगुंदा. (उदयपुर). बजट में गोगुंदा मे 19 करोड की राशि स्वीकृत की गई जिसमे मोडी ग्राम पंचायत मे स्थित महाराणा प्रताप की शस्त्रागार रही मायरा की गुफा का विकास व जीर्णोद्धार होगा। कस्बे मे वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्टे्रट न्यायालय खोलने की स्वीकृति दी गई है।
गोगुंदा में महाराणा प्रताप का राजतिलक हुआ था, वही इससे पांच किलोमीटर दूर मायरा की गुफा है जो हल्दीघाटी के युद्ध के समय महाराणा प्रताप की शस्त्रागार रही थी।
समय के साथ यह जीर्ण-शीर्ण अवस्था में पहुंच चुकी है। जनप्रतिनिधि सहित ग्रामीण लम्बे समय से इसके विकास की मांग कर रहे थे।
गोगुंदा कस्बे मे पूर्व मे न्यायिक कोर्ट है अब सरकार ने बजट मे अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्टेट न्यायालय की घोषणा की गई है । अधिवक्ता कुशालसिंह राणावत ने बताया की कोर्ट खुलने से न्यायिक सेवा का क्षेत्राधिकार बढ़ेगा।
दो न्यायालय की सेवा स्थानीय जनता
को प्राप्त होगी इस कोर्ट आवश्यक
वस्तु अधिनियम के मामले भी यहां सुनवाई हो सकेगी ।

Show More
surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned