video: मिलिए, इन हौसलेबाजों से... नसीब ने भी हार मान ली इनके जज्बे के आगे

Ramakant Kabawat Sharma

Updated: 07 Nov 2017, 06:51:18 PM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India

3 साल की उम्र में पोलियो की हुई थीं शिकार

1/5

परिवार, नौकरी और खेल, एक साथ तीन जिम्मेदारियां लेकिन बिलासपुर, छत्तीसगढ़ की अंजनी पटेल के लिए यह रोजाना की बात है। तीन साल की उम्र में पोलियो हो गया। इसके बाद सभी परेशानियों को पीछे छोड़ते हुए पैरा स्विमिंग को अपनी ताकत बनाया व नेशनल अवार्ड जीते। खुशमिजाज अंजनी कहती हैं कि तैराकी का सिलसिला अब कभी नहीं थमेगा। स्टेट अवार्ड जीतने पर सरकार के खेल विभाग ने डाटा एंट्री ऑपरेटर की नौकरी दी। विदेशों में पैरा स्विमिंग बहुत आगे है क्योंकि वहां सुविधाएं हैं। हमारे देश में भी ऐसी ही सुविधाएं होनी चाहिएं।

उदयपुर . भारतीय पैरालिम्पिक कमेटी, नारायण सेवा संस्थान, पैरा स्पोट्र्स एसोसिएशन राजस्थान और महाराणा प्रताप खेलगांव सोसायटी की मेजबानी में खेलगांव में हो रही राष्ट्रीय पैरा स्विमिंग चैम्पियनशिप में सोमवार को कई रोचक मुकाबले हुए। छत्तीसगढ़, हरियाणा और महाराष्ट्र के तैराकों ने दमदार प्रदर्शन कर सबसे ज्यादा पदक जीते। दिव्यांगों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन से लोगों का दिल जीतते हुए यह साबित कर दिया कि हौसले बुलंद हों तो असंभव कुछ नहीं। खेल प्रेमियों ने दिव्यांगों के हौसलों को सलाम किया। आप भी मिलिए ऐसे ही हौसलेबाजों से

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned