कोरोना के वार में नमूनों पर हार, उदयपुर में जांचों की कंजूसी

-संभागीय जिलों में फिसड्डी

- लेकसिटी में कोरोना के मामले 1120

- नमूनों में हम पीछे

By: bhuvanesh pandya

Updated: 27 Jul 2020, 09:08 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. कोरोना महामारी हमारा पीछा छोडऩे का नाम नहीं ले रही है वहीं दूसरी ओर उदयपुर में लोगों के नमूने लेने में फिलहाल कंजूसी बरती जा रही हैं। संभाग स्तर पर देखा जाए तो हम सात संभागों में पांचवें स्थान पर है। जयपुर और जोधपुर की बात की जाए तो दोनों सभागीय मुख्यालयों वाले जिले लाखों जांचें कर चुके हैं तो कोटा, बीकानेर भी हमसे ऊपर हैं, जबकि अजमेर और भरतपुर दो संभाग हमसे पीछे चल रहे हैं। हालात ये है कि जिलों में पाली ने उदयपुर से ज्यादा जांचें कर ली है।

---------
संभागीय मुख्यालयों वाले जिलों पर हुई जांचें (नमूने)

- अजमेर- 44731
- भरतपुर- 36434

- बीकानेर- 60168
- जोधपुर- 230451

- जयपुर- 164534
- कोटा - 91065

- उदयपुर- 55811
-------

जांच में जोधपुर अव्वल:
- जोधपुर प्रदेश में जांच करने में सबसे ऊपर चल रहा है। यहां 2 लाख 30451 जांचें हो चुकी हैं तो राजधानी जयपुर दूसरे स्थान पर है, यहां 1 लाख 64534 जांचें हो चुकी है। वहीं तीसरे स्थान पर कोटा है, जो 91 हजार से अधिक जांचों के साथ एक लाख के समीप पहुंच चुका है, तो चौथे स्थान पर बीकानेर है, जो 60 हजार से अधिक जांचों के साथ उदयपुर से ऊपर कायम है।

- जालोर जिले ने 50822 जांचें की, जो उदयपुर से छोटा है, लेकिन जांच के मामले में हमसे केवल 4989 जांचें ही पीछे हैं।
- पाली जिला तो उदयपुर से भी अधिक जांचें कर चुका है, यहां 62849 जांचें हुई है। ये जांचें उदयपुर से भी 7038 ज्यादा है।

- सीकर जिले ने भी उदयपुर से केवल 3296 जांचें कम की है। यहां अब तक 52515 जांचें की गई है।
-------

तो कहा से मिलेंगे संक्रमित करने वाले
एक ओर सरकार की मंशा है कि कोई भी संक्रमित व्यक्ति यहां वहां घूमकर लोगों को संक्रमित कर रहा है तो उसे ट्रेस करना है वहीं दूसरी ओर जिला प्रशासन या चिकित्सा विभाग के पास कोई जादू की छड़ी थोड़े ही है कि जो घुमाते ही वह पकड़ में आ जाएगा, इसके लिए तो सही तरीके से जांच बढ़ानी होगी ताकि कोई भी संक्रमित जांच करवाने से चूक ना जाए।

-----
उदयपुर में पिछले एक माह में जांच

- 1 जुलाई- 571
- 2 जुलाई- 429

- 3 जुलाई- 844
- 4 जुलाई- 944

- 5 जुलाई- 980
- 6 जुलाई- 732

- 7 जुलाई- 680
- 8 जुलाई- 705

- 9 जुलाई- 596
- 10 जुलाई- 430

- 11 जुलाई- 701
- 12 जुलाई- 752

- 13 जुलाई- 721
- 14 जुलाई- 488

- 15 जुलाई- 1077
- 16 जुलाई- 640

- 17 जुलाई- 1022
- 18 जुलाई- 806

- 19 जुलाई- 1427
- 20 जुलाई- 515

- 21 जुलाई- 541
- 22 जुलाई- 1234

- 23 जुलाई- 1347
- 24 जुलाई- 561

- 25 जुलाई- 1079
- 26 जुलाई- 1347

---------

पिछले 26 दिनों में कुल- 21169 जांचे हुई हैं। तत्कालीन कलक्टर आनन्दी का तबादला पांच जुलाई को हुआ था, जबकि 9 जुलाई को वे यहां से रिलीव हो गई थी। इसके बाद नए जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने 10 जुलाई को उदयपुर में ज्वाइन करने के साथ ही ये निर्देश दिए थे कि जांचें बढ़ाई जानी है। इसके बाद भी एक भी दिन जांचों का आंकड़ा 1500 से ऊपर नहीं पहुंच पाया है, जबकि कई दिन ऐसे भी थे, जब एक दिन में केवल 430 ही जांचों पर ही संतुष्टि हो गई। ऐसे में चाहिए कि अब विभाग नमूनों से लेकर जांचों पर गंभीर होकर इसकी संख्या बढ़ाए।
हमारा प्रयास जारी

हमारा प्रयास लगातार जारी है। जिला प्रशासन और सरकार की मंशा के अनुरूप हम नमूनों से लेकर जांचों की संख्या लगातार बढ़ा रहे हैं। कोशिश है कुछ और प्रयासों के साथ जांचों की संख्या में इजाफा किया जाए।
डॉ. दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned