उदयपुर में हाईकोर्ट न्यायाधीश व्यास ने विधिविधान से किया न्यू कोर्ट कॉम्पलेक्स का लोकार्पण

उदयपुर में हाईकोर्ट न्यायाधीश व्यास ने विधिविधान से किया न्यू कोर्ट कॉम्पलेक्स का लोकार्पण

Sushil Kumar Singh Chauhan | Updated: 04 Dec 2017, 02:08:23 AM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

-अदालत परिसर में नवनिर्मित न्यू कोर्ट कॉम्पलेक्स का रविवार सुबह हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोपालकृष्ण व्यास ने विधिविधान से पूजा-अर्चना कर लोकार्पण किया।

उदयपुर . अदालत परिसर में नवनिर्मित न्यू कोर्ट कॉम्पलेक्स का रविवार सुबह हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोपालकृष्ण व्यास ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश देवेंद्र कच्छावा, जिला कलक्टर विष्णुचरण मल्लिक एवं जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद गोयल की उपस्थिति में विधिविधान से पूजा-अर्चना कर लोकार्पण किया।

 

READ MORE : एसडीएम को बीच रास्ते में रोक कर दी शिकायत, चार दिन से नहीं मिला राशन, इस वजह से भटकना पड़ रहा है इधर उधर

 

जिला एवं सत्र न्यायाधीश देवेंद्र कच्छावा, जिला कलक्टर विष्णुचरण मल्लिक एवं जिला पुलिस अधीक्षक राजेंद्र प्रसाद गोयल की उपस्थिति में हुए आयोजन में जिले भर की तमाम अदालतों से आए पीठासीन अधिकारियों ने शिरकत की। इससे पहले सुबह के समय सडक़ मार्ग से उदयपुर पहुंचे न्यायाधीश व्यास का गुरुनानक स्कूल की बालिकाओं ने स्वागत किया। मुख्य दरवाजे का फीता काटने के बाद न्यायाधीश व्यास ने सपत्नी नवनिर्मित भवन में आयोजित पूजा-अर्चना एवं धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

 

READ MORE : अन्तरराष्ट्रीय विकलांग दिवस की पूर्व संध्या पर नारायण सेवा संस्थान का प्रयास, उम्मीद के क्षितिज पर झिलमिलाईं प्रतिभाएं

 

तत्पश्चात इमारत की लोकार्पण पट्टिका का अनावरण किया। हाईकोर्ट न्यायाधीश व्यास ने प्रथम एवं द्वितीय तल में संचालित होने वाली फेमिली कोर्ट, एमएसीटी, एसीबी, एसटी/एससी विशिष्ट न्यायालय एवं श्रम अदालत के पीठासीन अधिकारियों को उनकी सीट संभलवाई। न्यायाधीश व्यास की गरिमा एवं उपस्थिति को ध्यान में रखकर निचले स्तर के अधिकारियों ने पहले तो सीट पर बैठने में रुचि नहीं दिखाई, लेकिन न्यायाधीश व्यास के कहने पर उन्होंने सीट संभाली।

महिला कॉमन कक्ष
स्थानीय बार पदाधिकारियों की अपील पर न्यायाधीश व्यास ने अदालत परिसर में महिला अधिवक्ता कॉमन रूम के प्रस्ताव मिलने की बात कही। उन्होंने कहा कि जल्द ही स्थानीय मांग को ध्यान में रखकर निर्माण के लिए जगह तय करने की बात कही। इसके अलावा अधिवक्ताओं की मांग पर उन्होंने अदालत परिसर से बाहर चल रहे किशोर न्यायालय एवं स्थायी लोक अदालतों को भी इस परिसर में स्थान देने की बात कही।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned