नई हज नीति हुई जारी, आरक्षण यथावत रहने से बुजुर्गों में खुशी की लहर

नई हज नीति हुई जारी, आरक्षण यथावत रहने से बुजुर्गों में खुशी की लहर

Mukesh Kumar Hinger | Publish: Nov, 14 2017 02:01:01 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर . मुंबई में जारी हुई नई हज नीति 2018 में आवेदनकर्ताओं को पूरी ख्याल रखते हुए उनका आरक्षण यथावत रखा है।

उदयपुर . मुंबई में जारी हुई नई हज नीति 2018 में सरकार एवं केन्द्रीय हज कमेटी ने बुजुर्गों व लगातार चार साल से आवेदन कर रहे आवेदनकर्ताओं को पूरी ख्याल रखते हुए उनका आरक्षण यथावत रखा है। ये मक्का मदीना की सीधी उड़ान भर सकेंगे। शेष कोटे के अनुसार हर राज्य में लॉटरी निकाली जाएगी। हज कमेटी ऑफ इंडिया एवं केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हज 2018 की घोषणा की। इसमें सम्पूर्ण यात्रा व प्रक्रिया को पूरी तरह से पारदर्शिता रखते हुए मोबाइल एप लॉन्च किया है।

 

इस एप में आवेदन की सम्पूर्ण प्रक्रिया के साथ ही समस्त जानकारी आसानी से मिल सकेगी। जिला हज संयोजक जहीरूद्दीन सक्का ने बताया कि नई नीति में सरकार द्वारा हाजियों को ध्यान रखने से मुस्लिम समुदाय में खुशी है। हज यात्रा के लिए 15 नवम्बर से 7 दिसम्बर तक आवेदन कर सकते है। इधर, राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन व राज्य हज कमेटी चेयरमैन अमीन खान पठान के उदयपुर आगमन पर जिलाध्यक्ष (अल्पसंख्यक मोर्चा) जाकिर हुसैन घाटीवाला, प्रदेश उपाध्यक्ष इकराम कुरैशी, जिला प्रभारी फारूख हुसैन, मदरसा जिला संयोजक सलीम हुसैन, अनिस खान, अब्दुल कादिर उर्फ बंटी ने उनका स्वागत किया।

 

READ MORE: महाराणा भूपाल चिकित्सालय: ड्यूटी पर लौटे रेजिडेंट, मरीजों की लगी कतारें

 

2017 में हज यात्रियों का लेखा जोखा
-गत वर्ष गई कुल फ्लाइट- 454
-सरकार हज कमेटी के माध्यम से गए कुल हज यात्री - 1 लाख 24 हजार 940
-निजी ट्यूर कंपनी से गए- 45 हजार यात्री
-2017 में कोटा बढ़ा कुल यात्री गए- 1 लाख 70 हजार 25
-देश के 21 हज यात्रा केन्द्रों से गए थे यात्री।
-एक माह पहले आई हज नीति
-केंद्र सरकार ने हज की घोषणा गत वर्ष के मुकाबले एक महीने घोषित हुई जिससे सम्बंधित एजेंसियों को तैयारी करने व हाजियों को विश्व स्तरीय सुविधाएं मुहैया करवाने में मदद मिलेगी।

 

नया हज मोबाइल एप लांच हुआ जिससे हाजियों को ऑनलाइन आवेदन करने में सुविधा मिलेगी। एप में हज के लिए आवेदन, पूछताछ, सूचनाएं, हज से सम्बंधित नवीनतम गतिविधियों की जानकारी व ई-पेमेंट की खासियत। पंजीकरण भुगतान भी ऑनलाइन किया जा सकेगा।

 

READ MORE: बिजली की अनियमित आपूर्ति से आक्रोशित किसान, गुस्से में दे दी ये चेतावनी, देखें वीडियो

 


सेंट्रल हज कमेटी ने सभी स्टेट हज कमेटी से ऑनलाइन आवेदन का आग्रह किया।
हाजियों के खर्चों की पूरी जानकारी हज एप्लीकेशन में मौजूद। हवाई किराए के अनुसार हज यात्री इम्बार्केशन प्वाइंट का चुनाव कर सकते हैं।


हज नीति में 70 वर्ष से अधिक उम्र के हज पर जाने के इच्छुक लोगों के लिए आरक्षण को बरकरार रखा 45 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को 4 या इससे ज्यादा के समूह में बिना मेहरम, पुरुष रिश्तेदार के हज यात्रा पर जाने की इजाजत शामिल अल्पसंख्यक मंत्रालय नई हज नीति पर दी गई रिपोर्ट का अध्ययन कर रहा है व 21 इम्बार्केशन प्वाइंट को बरकरार रखने पर अभी विचार कर रहा है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned