गृहमंत्री के गोद लिए वार्ड में डर्टी पिक्चर...दुर्गंध के बीच 6 घंटे पढऩे को मजबूर नौनिहाल

गृहमंत्री के गोद लिए वार्ड में डर्टी पिक्चर...दुर्गंध के बीच 6 घंटे पढऩे को मजबूर नौनिहाल

Krishna Kumar Tanwar | Publish: Oct, 13 2018 08:38:49 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 08:38:50 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

निगम ने स्कूल को बना दिया डंपिंग यार्ड

 

गड्ढे को भराव से पाटना था, भरने लगे कचरा

चंदन सिंह देवड़ा/उदयपुर. नगर निगम के वार्ड 1 मनोहरपुरा स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय डंपिंग यार्ड में तब्दील हो गया है। यह वार्ड गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया का गोद लिया हुआ है, लेकिन स्कूल के सामने नगर निगम ने जिस तरह से गंदगी का ढेर लगाया है उससे स्मार्ट बनते उदयपुर की डर्टी पिक्चर सामने आ रही है। यहां 6 घंटे तक नौनिहाल गंदगी और कचरे से उठती दुर्गंध के बीच पढऩे को मजबूर है। स्कूल के सामने गंदे पानी से भरे गडढे को पाटने के लिए पार्षद ने सकारात्मक पहल करते हुए इसे पाटने का काम करवाया, लेकिन निगम कर्मचारी भराव की जगह स्कूल के सामने कचरा, गंदगी, जलीय घास लाकर डाल रहे हैं। हालात यह हो गए है कि जब कोई कचरे में आग लगा देता है तो धुएं और बदबू सें स्कूल परिसर में ठहरना मुश्किल हो जाता है।
बच्चों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा घातक प्रभाव प्रधानाध्यापिका वर्षा पुरोहित ने बताया कि स्कूल भवन से सटे कचरे के ढेर से वातावरण प्रदूषित हो रहा है। कई बच्चे बीमार पड़ रहे है। आंगनवाड़ी केन्द्र भी इसी परिसर में चलता है। ऐसे में स्वच्छता पर दाग लगा हुआ है। कचरे का ढेर लगा होने से मवेशियों और का डेरा रहता है। कचरे में फंस कर कई मवेशी भी मर गए है। निगम ने सार्वजनिक शौचालय भी स्कूल भवन के पास बना दिया और गड्ढे में भरी जा रही गंदगी से परेशानी बढ़ गई है। क्षेत्र के संजयसिंह ने बताया कि इस संबंध में कई बार शिकायत कर चुके हैं लेकिन कोई सुध लेने वाला नहीं है। दूसरी कक्षा के विद्यार्थी संजू ने बताया कि इस समस्या के चलते वे ठीक से नहीं पढ़ पा रहे हैं।
यह बोले जिम्मेदार

स्कूल की परेशाानी वाजिब है। भराव डालने को बोला था, अगर कचरा भर रहे हैं तो पाबंद करेंगे। 40 साल में इस गड्ढे को पाटने की किसी ने हिम्मत नहीं की मैने यह काम हाथ में लिया। बारिश होने से कचरे को गड्ढे को समतल नहीं कर पाए। दो-चार दिन में हालात सुधार देंगे।
अतुल चंडालिया, पार्षद, वार्ड 1

निगम आयुक्त को लिखित में शिकायत कर चुकी हूं, लेकिन प्रदूषण भरे वातावरण में चल रहे स्कूल की तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है। सभी स्वच्छता की बातें करते हैं लेकिन यहां बच्चों पर इसका बुरा असर पड़ रहा है।
वर्षा पुरोहित, प्रधानाध्यापिका, राप्रावि मनोहरपुरा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned