कोरोना वॉरियर्स के लिए किसी बडे़ होटल ने नहीं खोले अपने द्वार, इनसे कुछ सीखिए जनाब ...

 

- जो जिंदगी बचा रहे हैं उनके लिए कोई आगे क्यों नहीं आता

 

By: bhuvanesh pandya

Published: 06 Apr 2020, 11:13 AM IST

भुवनेश पंड्या

- प्रशासन ने कुछ होटल जरूर किए है अधिगृहित

उदयपुर. वो जो आपके और मेरे लिए हर घड़ी खतरे से दो चार हो रहे हैं। वो जो अपने घर को छोड़ आम लोगों के लिए कोरोना से सीधे मुंह लड़ाई लड़ रहे हैं, वो जो तमाम जिंदगिया बचाने के लिए रात दिन जूझ रहे हैं। ये एेसे कोरोना वॉरियर्स हैं जिनके सामने बस इस बड़ी लड़ाई को जीतने और लोगों की जान बचाने का का ही जैसे लक्ष्य बन चुका है, लेकिन इस घड़ी में भी हम उनके लिए एक कदम तक बढ़ाना नहीं चाहते। शहर के चंद होटल्स को छोड़ किसी बड़े होटल ने अब तक इन कोरोना वॉरियर्स के लिए अपने द्वार नहीं खोले हैं। जो होटल यहां खुले भी है तो वह जिला प्रशासन के अधिगृहण के बाद खुले हैं, आखिर क्यों नहीं कोई होटल मालिक खुद आकर अपने होटल्स के द्वार इन वॉरियर्स या जरूरतमंदों के लिए खोल रहा। मुम्बई में होटल ताज से लेकर कई होटल्स ने अपने द्वार कोरोना वॉरियर्स के लिए खोल दिए हैं, वॉरियर्स में डॉक्टर्स, हैल्थ वर्कर्स, इमरजेंसी सेवाओं से जुडे़ कार्मिक, प्रशासनिक अधिकारी शामिल है।

---------------

इन होटल्स ने देश भर में खोले कोरोना वॉरियर्स के लिए अपने द्वार - एक बानगी

- दिल्ली में होटल ललित ने अपने १०० कमरे कोरोना वॉरियर्स के लिए खोले है। इसमें कई एेसे डॉक्टर्स व स्टाफकर्मी रह रहे हैं जो नियमित रूप से चिकित्सा कार्यों में लगे हैं, कई चिकित्सकों को उनके मकान मालिकों ने वहां से घर छोडऩे के लिए बाध्य कर दिया है।

- टाटा के आईएलसएल ग्रुप ने अपने कई होटल्स के गेट मेडिकल प्रोफेसशल्स के लिए खोल दिए हैं। मुम्बई, गोवा, आगरा, नोएडा सहित सात गजह पर नि:शुल्क दसुविधिा मुहैया करवाई है। इतना ही नहीं है टाटा ग्रुप ने कोलाबा का ताज होटल, बान्द्रा के ताज लेंड्स एण्ड के द्वार खोल दिए हैं। इसके अलावा होटल ताज महल, ताज सान्ताक्रूज, दी प्रेसिडेंट, जिंजर एमाआईडीसी अंधेरी, जिंजर मडग़ांव, जिंजर नोएडा में ये सुविधाएं मुहैया करवाई है।

- ओयो कंपनी के संस्थापक रितेश अग्रवाल ने भी अपने होटल्स की चेन को कोरोना संदिग्ध लोगों व क्वारंटाइन के लिए आगे आने वालों के लिए खोलने को लेकर जल्द निर्णय लेने की बात कही है। उन्होंने इस सेवा के लिए न्यूनतम दर पर देने की बात कही थी। बताया जा रहा है कंपनी जल्द ही इसके लिए हैल्पलाइन नम्बर्स भी जारी करेगी।

- उत्तरप्रदेश सरकार ने फोर और फाइव स्टार होटल्स को कोरोना वॉरियर्स के लिए खुलवाया है। इसमें हयात रेजेन्सी, लेमन ट्री, द पिकाडिली, फेयरफील्ड मैरियट शामिल हैं।

------

जिला प्रशासन ने

- होटल मुम्बई पैलेस के 10 कमरों और होटल आशीष को जिला प्रशासन ने 4 अप्रेल को क्वारंटाइन कैंप के रूप में खुलवाया है। हालांकि होटल मुम्बई पैलेस में रह रहे चिकित्सकों का कहना है कि तय समय पर उन्हें वहां खाना नहीं दिया जा रहा है, उन्हें बिना पंखे व अन्य व्यवस्था के रात भर गुजारनी पड़ी, यहां बताया जा रहा है कि होटल में एसी भी बंद थे।

- होटल गोल्डन ट्यूलिप के भी 10 कमरे स्थानीय चिकित्सा व्यवस्था के लिए ले रखे हैं।

- होटल कजरी के 35 कमरे क्वारंटाइन फैसेलिटी के लिए ले रखे हैं। इसमें चिकित्सक व स्टाफ कर्मियों के लिए व्यवस्था की गई है।

-----

जिला प्रशासन के निर्णय: गत 19 मार्च को जिला कलक्टर ने आदेश जारी कर इनका अधिगृहण किया था। कलक्टर ने इन होटल्स को चिह्नित कर स्पष्ट किया है कि आपातकालीन स्थितियों में इन होटल्स को अधिगृहित किया जा सकेगा।

- 25 सरकारी भवनों का अधिगृहण किया था।

ये प्राइवेट होटल किए थे क्वारंटाइन कैंप के लिए चिह्नित:

नाम- जगह- कमरे - रूपीज रिसोर्ट - डबोक - 40

- लाल बाग पैलेस - चीरवा घाटा- 80

- अमनगढ़ रिसोर्ट- सेठजी की कुंडाल -67

- होटल द केसल मेवाड़- बडोदिया चौकी - 80

- औरिका उदयपुर- कला रोही मार्ग- 139

- दी रॉयल रीट्रिट- बड़ी हवाला रोड- 93

- अनन्ता रिसोर्ट- कोडियात रोड- 234

- आराम बाग- एनएच आठ- 45

- गोल्डन ट्यूलिप- सरदारपुरा मधुवन-86

- मिराज गेस्ट हाउस- पंचवटी- 5

- होटल फतहगढ़ - सिसारमा- 50

- फतह निवास- रामपुरा सर्किल- 63

- होटल देवी पैलेस- कोडियात रोड- 45

- होटल सज्जनगढ़- रामपुरा चौराहा- 63

- होटल इंदर रेजिडेंसी- गोवर्धन विलास- 144

- केम्बे रिसोर्ट- कलड़वास- 58

- एचजेडएल गेस्ट हाउस- 4

- होटल रेडिसन ब्लू- 244

- होटल ट्राइडेंट- 141-

-----

वर्तमान में होटल गोल्डन ट्यूलिप, मुम्बई हाउस व होटल कजरी को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है, कुछ होटल पहले से चिह्नित किए गए हैं, यदि कोई होटल इसके लिए खुद आगे आते हैं तो इससे बेहतर क्या हो सकता है।

ओपी बुनकर, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन

bhuvanesh pandya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned