लॉकडाउन में बदला पढ़ाई का तरीका, घरों में चल रही ऑनलाइन स्टडीज

- शहर के प्राइवेट स्कूल्स अब एप्स और ऑनलाइन क्लासेज से करवा रहे स्टूडेंट्स को पढ़ाई

- टीचर्स अलग-अलग समय में लेते हैं बच्चों की क्लास, बच्चों की पढ़ाई का नुकसान ना हो और सिलेबस भी कवर कराना है मुख्य वजह

By: madhulika singh

Published: 03 Apr 2020, 03:00 PM IST

उदयपुर. कोरोना महामारी के कारण स्कूलों में समय से पहले ही ‘समर वेकेशंस’ हो गए हैं। ऐसे में बच्चों की तो मौज हो गई है, लेकिन स्कूल्स को अपना-अपना सिलेबस कवर करने की चिंता है। वहीं, बोर्ड स्टूडेंट्स की पढ़ाई का नुकसान ना हो उसके लिए भी स्कूल्स अपने स्तर पर जुटे हुए हैं। यही कारण है कि स्कूलों ने ऑनलाइन क्लासेज और एप्स के माध्यम से पढ़ाई करानी शुरू कर दी है। इसके माध्यम से टीचर्स बच्चों की पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे रहे हैं।


एप्स और ऑनलाइन क्लासेज से पढ़ाई

लॉकडाउन की वजह से शहर के स्कूल बंद हैं। बच्चों की पढ़ाई का नुकसान न हो इसी के चलते अधिकांश स्कूलों ने ऑनलाइन स्टडी शुरू करवा दी है। स्कूलों ने अपने एप बना लिए हैं, जिन पर ऑनलाइन क्लास चल रही है। सप्ताह भर से शहर के स्कूलों में ऑनलाइन स्टडी शुरू हो गई है, जिनमें अभी शुरू नहीं हुई उनमें अब इस सप्ताह से होने की तैयारी है। इसके अलावा बच्चों को मेल के माध्यम से वर्कशीट भेजी जा रही हैं, जिससे बच्चों ने अपना काम करना शुरू कर दिया है। सीपीएस की प्राचार्य पूनम राठौड़ ने बताया कि दसवीं और बारहवीं बोर्ड की क्लासेज रेगुलर की जा रही हैं। इसके अलावा धीरे-धीरे दूसरी क्लासेज को भी एप के माध्यम से जोड़ा जा रहा है। वीडियोज भी वॉट्सएप पर स्टूडेंट्स के साथ शेयर किए जा रहे हैं। इससे टीचर्स और स्टूडेंट्स रेगुलर टच में हैं। इसी तरह कई अन्य स्कूल वीडियो लेसंस दे रहे हैं तो कई स्टूडेंट्स से जूम और स्काइप एप्स से कॉन्टेक्ट कर के क्लासेज ले रहे हैं।

तय शेड्यूल के अनुसार होती हैं क्लासेज
12वीं में पढऩे वाली स्टूडेंट कृष्णा कंवर ने बताया कि स्कूल की तरफ से एप डाउनलोड कराया गया है, जिसके माध्यम से पढ़ाई कराई जा रही है। टीचर्स ने यूट्यूब पर वीडियोज बना कर डाल रखें हैं, जिसके लिंक्स हमें सेंड किए जाते हैं। सभी क्लासेज के स्टूडेंट्स को पर्टिकुलर शेड्यूल सेंड कर रखा है। उसी टाइम पर क्लासेज होती हैं। पूरी क्लास एक साथ जुड़ जाती है और रेगुलर टीचर्स क्लास लेते हैं। इसका फायदा ये है कि पढ़ाई का नुकसान नहीं हो रहा है।

annie.jpg

इसी तरह 12वीं में पढऩे वाली एनी ने बताया कि सभी स्टूडेंट्स एप और वीडियोज से ऑनलाइन स्टडी कर रहे हैं। पहले टीचर्स वीडियो लिंक्स शेयर करते हैं और अगले दिन वीडियो कांफ्रेंसिंग पर स्टूडेंट्स अपने डाउट्स क्लीयर कर लेते हैं। हर दिन दो सब्जेक्ट्स की क्लासेज होती हैं। टाइम भी तय है। सुबह 10 से 11 और शाम को 4 से 5 बजे तक क्लासेज हो रही हैं।

Corona virus
madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned