scriptopium fields looking like tulip garde | tulip garden news : ट्यूलिप गार्डन जैसे नजर आ रहे अफीम के खेत | Patrika News

tulip garden news : ट्यूलिप गार्डन जैसे नजर आ रहे अफीम के खेत

अफीम फसल को तोतों से बचाने के लिए जालियों से ढका खेत, करीब 110 हैक्टेयर में अफीम बुवाई की है

उदयपुर

Published: February 18, 2022 05:29:07 pm

मेनार (उदयपुर). मेवाड़ में अफीम के खेत सफेद फूलों से महकने लगे हैं। दूर से देखने पर ऐसा लगता है जैसे कश्मीर का टूलिप गार्डन हो। वल्लभनगर खण्ड क्षेत्र में सर्द मौसम में अफीम की फसल इन दिनों पूरे यौवन पर है।
उदयपुर जिले के वल्लभनगर उपखंड क्षेत्र में अनुज्ञाधारी किसानों ने करीब 110 हैक्टेयर में अफीम बुवाई की है। अभी कुछ खेतों में फूलों के बाद डोडे दिखना शुरू हो गए हैं, वहीं अनेक खेतों में दोबारा बोई फसल अभी छोटी है। जिन खेतों में डोडे बनने लग गए हैं उन इलाकों में फसल बढऩे के साथ ही किसानों के माथे पर देखरेख को लेकर चिंता की लकीरें भी बढऩे लगी हैं। अब किसानों को फसल की सुरक्षा में दिन और रात खेतों में ही गुजारने पड़ रहे हैं। किसान अपनी फसल को प्राकृतिक प्रकोप, मवेशियों और पक्षियों से सुरक्षा करने में भी जुट गया है। काला सोना कही जाने वाली इस फसल को किसान कड़ी मेहनत से पाल-पोषकर बड़ी करते हैं। कई किसानों ने तो खेतों पर तिरपाल-झोपडिय़ां भी बना डाली हैं, जिसमें ये दिन-रात रहकर रखवाली कर रहे हैं। अफीम की फसल पर फूल और डोडा आने के बाद लुवाई का काम शुरू होता है। लुवाई के समय किसानों को खतरा बढ़ जाता है। फसल को मवेशियों और प्राकृतिक प्रकोप से भी खतरा कम नहीं होता है।
तोते तोड़ ले जाते हैं डोडा
किसानों ने मवेशियों से फसल की सुरक्षा के लिए तारबंदी, लोहे की जालियां लगा दी हैं। किसानों को सबसे ज्यादा चिंता तोतों की है, जो डोडा तोड़कर ले जाते हैं। इसी कारण जैसे ही अफीम फूलों के बाद डोडा दिखने लगे उसे पहले ही किसान खेत को जाली से ढंकना शुरू कर देते हैं। ताकि नुकसान नहीं हो। तोतों से बचने के लिए किसानों ने फसल को पूरी तरह से जालियों से कवर करके रखा है। लेकिन फिर भी तोते किसी ना किसी प्रकार से फसल को नुकसान पहुंचा ही देते हैं। मेनार के किसान बताते है कि रोजड़ों से बचाव के लिए किसानों ने पहले ही तारबंदी कर रखी है। तारबंदी में हजारों रुपए के खर्चे के बाद अब जाली का खर्चा बढ़ गया है। अफीम खेत पर जाली का 10 से 15 हजार रुपये तक का खर्चा आता है।
आस-पास बोते हैं मक्का
कृषि अधिकारी मदन सिंह के अनुसार प्राकृतिक प्रकोप से बचाव के लिए अफीम की फसल के चारों तरफ मक्का की बुवाई करते हैं। इससे शीतलहर और पाले का असर मक्का की फसल पर होने से कम हो जाता है।
रस्सी से पौधों को बांधा
खेतों में अधिक नमी और हवा से अफीम की फसल आड़ी नहीं पड़े इसलिए किसानों ने बमुश्किल पौधों को भी रस्सी से बांध लिया है। खेतों की क्यारियों में डंडे रोपकर आपस में रस्सियां बांध दी हैं, जिसके सहारे पौधा खड़ा रहे और वजन से हवा से फसल खेत में आड़ी नहीं गिरे।
opium fields looking like tulip garde
ट्यूलिप गार्डन जैसे नजर आ रहे अफीम के खेत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफलबीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.