सांसों के लिए ऑक्सीजन के तीन प्लांट शुरू, पांच कतार में

कोरोना के कहर के बीच एमबी के अलावा बाहर भी प्लांट तैयार हो रहे, फतहनगर, कानोड़ व हिरणमगरी में भी प्लांट की तैयारी

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 13 May 2021, 11:35 AM IST

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. कोरोना के बढ़ते संकट और ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए अब ऑक्सीजन प्लांट को लेकर काम किया जा रहा है। अभी उदयपुर में ऑक्सीजन के तीन प्लांट इन दिनों शुरू हुए है तो करीब पांच प्लांट कतार में है जो इसी महीने तक पूरा करने तक की तैयारी है।

सांसों को बचाने के लिए सरकार के साथ जनप्रतिनिधि, दानदाता व संस्थाएं भी सामने आई और एक कदम बढ़ाते हुए ऑक्सीजन प्लांट के लिए सहयोग किया। उदयपुर में ऑक्सीजन प्लांट एमबी चिकित्सालय में एक तो शुरू हो गया है और दूसरा भी इसी महीने पूरा करने की तैयारी है।

ये प्लांट शुरू हो गए

- महाराणा भूपाल चिकित्सालय (एमबी) में लिक्विड ऑक्सीजन की पाइप लाइन शुरू की गई, एसएसबी ब्लॉक तक बिछाई लाइन को ऑक्सीजन प्लांट से जोड़ कर शुरू कर दिया गया।

- गींताजलि हॉस्पिटल में एलएमओ प्लांट शुरू हो गया है।
- सेटेलाइट अम्बामाता में प्लांट शुरू हो गया है

ये और प्लांट कतार में

- एमबी चिकित्सालय के एसएसबी ब्लॉक के पीछे की तरफ करीब 74 लाख रुपए की लागत से टैंक बनेगा। शहर विधायक कौटे से 74.81 रुपए स्वीकृत किए है।

- यूडीएच की तरफ से उदयपुर यूआइटी के जरिए भी एक प्लांट बनाया जाएगा, वैसे ये आरएनटी में ही प्रस्तावित है लेकिन अभी तय नहीं हुआ है
- सिक्योर मीटर की तरफ से हिरण मगरी सेटेलाइट में भी प्लांट स्थापित किया जाएगा।

- जिले के मावली ब्लॉक में फतहनगर में ऑक्सीजन प्लांट बनेगा, नगर पालिका की मांग पर मावली विधायक ने राशि स्वीकृत की।
- कानोड़ कस्बे में प्लांट स्थापित करने के लिए उदयपुर की एक संस्था आगे आई, वहां प्रक्रिया पूरी होते ही प्लांट का काम शुरू होगा।


अम्बामाता सेटेलाइट में शुरू हुआ ऑक्सीजन प्लांट

गंभीर रोगियों को ऑसीजन की आपूर्ति करने के लिए अम्बामाता सेटेलाइट हॉस्पीटल में स्थापित किए गए ऑक्सीजन प्लान्ट का उद्घाटन संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट एवं जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बुधवार को किया। यह प्लांट सिक्योर मीटर की तरफ से स्थापित किया गया। सिक्योर की टीम ने इन ऑक्सीजन प्लांट्स को 15 दिनों में विदेश से मंगवाकर स्थापित करवाया है। वहां अब लिक्विड मेडिक्ल ऑक्सीजन की जरूरत वाले 40 मरीजों को भर्ती किया जा सकेगा। इस अवसर पर सिक्योर के एम.डी. सुकेत सिंघल, अनन्य सिंघल, आरएनटी के प्रिंसीपल डा. लाखन पोसवाल, सेटेलाइट अस्पताल के नोडल ऑफिसर राहुल जैन आदि उपस्थित थे। इसे पूर्व एक प्लांट अनंता अस्पताल में स्थापित किया गया था।

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned