तीन दिन पहले लगाए पिंजरे में पैंथर का जोड़ा कैद

कमलोदिया वन खंड के पास आबादी में बढ़ गया था पैंथर का मूवमेंट

By: Mukesh Hingar

Published: 13 Sep 2021, 11:04 PM IST

उदयपुर. शहर से सटे कमलोदिया वन खंड के आसपास के गांवों में पिछले दिनों से बढ़े पैंंथर के मूवमेंट के बाद तीन दिन पहले वहां लगाए पिंजरे में शनिवार रात पैंथर का एक जोड़ा कैद हो गया। सुबह ग्रामीणों को इसका पता लगा तो भयभीत लोगों ने राहत की सांस लेते हुए वन विभाग को सूचित किया। बताते हैं कि पैंथर ने गांव में मवेशियों को शिकार बनाया और उसके बाद वन विभाग ने वहां पिंजरा लगाया।
मटून ग्राम पंचायत के कमलोद गांव के पास ये पैंथर पिंजरे में आया। सुबह सूचना मिलने पर रेंजर दिलीप गुर्जर ने टीम मौके पर भेजी। वहां पिंजरे में जाकर देखा गया तो एक नहीं दो पैंथर थे। बाद में वन विभाग के स्टाफ ने आला अधिकारियों को सूचना दी कि पिंजरे में पैंथर का जोड़ा (नर-मादा) आए हैं, जिनकी उम्र करीब चार से पांच साल है। पिंजरे के साथ उनको सुरक्षित स्थान पर रवाना किया गया। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर उन्हें तय किए जाने वाले जंगल में छोड़ा जाएगा।

उदयसागर के पास प्यास बुझाते

इस क्षेत्र के आबादी क्षेत्रों में पैंथर का विचरण बढ़ गया था। असल में कमलोदिया वन खंड में तो पैंथर है और प्यास बुझाने के लिए भी उदयसागर झील के पास आते-जाते हैं। मटून से लेकर कमलोद गांव व पास के ढाणियों में पैंथर के आबादी क्षेत्र में इन दिनों पैंथर का विचरण बढ़ गया और वह बकरियों व बछड़ों का शिकार कर रहा था। ग्रामीणों ने वन विभाग को शिकायत करते हुए कहा कि कोई जनहानि नहीं हो जाए। इस बीच तीन दिन पहले पिंजरा लगाया ही था कि बीती रात को पैंथर को जोड़ा उसमें आ गया।

Mukesh Hingar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned