पैंथर की हलचल ने बढ़ाई बेचैनी

ग्रामीणों में भय व्याप्त

By: surendra rao

Published: 22 Jun 2020, 05:54 PM IST

उदयपुर. बनोड़ा. जिले के कुछ गांवों में पैंथर की दस्तक से ग्रामीणों में भय है। पैंथर की हलचल ने ग्रामीणों की हलचल बढ़ा दी है। बनोड़ा कस्बे में वातड़ा कृषि फ ार्म पर एक पैंथर ने पशुओं के बाड़े में जाकर दो बछड़ों को घायल कर दिया। पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और पैंथर के पद चिन्ह देखे। इस आधारपर वनपाल उदयसिंह, वनरक्षक नरेन्द्रसिंह, हिम्मतसिंह ने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाने के स्थान का चयन किया है। वनकर्मियों का मानना है कि पैंथर खेतों के किनारे सरणी नदी के आसपास के घना जंगल में छिपा होने का अनुमान है। टीम ने किसानों को जल्द पैंथर पकडऩे का आश्वासन दिया है।
बम्बोरा/गींगला .कुराबड़ ब्लॉक के सुलावास गांव में पंचायत भवन के निकट क्षेत्र में कुछ दिनों से पैंथर आए दिन जंगल से निकल कर आबादी क्षेत्र के निकट पशुपालकों के भागल में मवेशियों का शिकार कर रहा है। इससे ग्रामीण भयभीत होने लगे हैं। ग्रामीणों ने वन विभाग से पैंथर को पकडऩे की मांग की है।
सुलावास निवासी हीरालाल पटेल ने बताया कि रात को पैंथर ने उसके और हरिसिंह के भागल में घुस गाय को दबोच लिया। इससे गाय मौत हो गई। एक दिन पूर्व लक्ष्मण सिंह के गाय के बछड़े को भी दबोचा। इससे पहले भी कई पशुओं को निशाना बनाया है। कुछ बछड़ों को ले जाने के दौरान ग्रामीणों के चिल्लाने से पैंथर भाग गया, लेकिन उनके दांत लगने से बछड़ों का उपचार करवाया गया। ग्रामीणों का कहना है कि अब यहां सोने में भी डर लग रहा है।
विठौली में फिर किया गाय का शिकार
घासा समीपवर्ती विठौली गांव में गत दिनों एक बार फिर पैंथर ने बाड़े में बंधी गाय को मौत के घाट उतार दिया है। मांगीलाल डांगी के बाड़े में रात करीब 10 बजे अचानक पैंथर ने गाय पर हमला कर दिया। पैंथर ने गाय केशरीर पर कई घाव कर दिए जिससे मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर ग्रामीण लाठिया लेकर मौके पर पहुंचें। लेकिन पैंथर खेतो के आसपास ही गुर्राता रहा। इससे पूर्व भी पैंथर कई मवेशियों का शिकार कर चुका है। पैंथर अब तक कुल 7 मवेशियों को अपना निवाला बना चुका है।

surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned