वार्ड-48 में हुई चेंजमेकर की बैठक : निकाय चुनावों में स्वतंत्र खड़े हो प्रत्याशी

निकाय चुनावों में पार्टियों का हस्तक्षेप खत्म कर देना चाहिए। इन चुनावों में प्रत्याशी स्वतंत्र खड़े हो। पार्टियों के प्रत्याशियों से राजनीति बढ़ती है और विकास प्रभावित होता है।

उदयपुर. निकाय चुनावों में पार्टियों का हस्तक्षेप खत्म कर देना चाहिए। इन चुनावों में प्रत्याशी स्वतंत्र खड़े हो। पार्टियों के प्रत्याशियों से राजनीति बढ़ती है और विकास प्रभावित होता है।यह बात वार्ड-48 के लोगों ने रविवार को शिव मंदिर में हुई चेंजमेकर की बैठक में कही। लोगों ने कहा कि राजनीति में स्वच्छ छवि का आदमी भी आता है तो वह बदल जाता है। हालांकि जिसमें काम का जज्बा होगा, वह काम जरूर करेगा। कई बार अन्य वार्ड का व्यक्ति चुनावी मैदान में खड़ा कर दिया जाता है। ऐसे में वार्ड की समस्याओं के प्रति पार्षद गंभीर नहीं रहते और इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ता है।बैठक में सुनील कुमावत, अविनाश सक्सेना, हरपालसिंह कंडा, भैरूसिंह सांखला, अशोक कुमार गोधा, एमएल गोयल, सुनील लक्षकार, भरत जैन, संजय नागौरी, मीठालाल साहू, सत्यनारायण अरोड़ा, छगनलाल माली, राजेश वसीटा, नाजभाई, गजेंद्र माली, प्रकाश जैन, सुभाष महता, फतहलाल नागोरी, शिवनारायण देवपुरा, महेशचंद्र गढ़वाल मौजूद थे।

क्षेत्र की समस्या पर भी चर्चा


बैठक में शिवपार्क कॉलोनी संबंधी चर्चा भी हुई। संचालन अध्यक्ष शिवनारायण देवपुरा व सचिव महेश गढ़वाल ने किया। स्मार्ट सिटी के कार्य से खराब हुई दुर्गानर्सरी रोड का मुद्दा भी उठा। शिव कॉलोनी, शिवपार्क कॉलोनी के बाहर बने कट पर हिरणमगरी से आने वाले वाहनों से अभी से जाम की स्थिति बन रही है। ऐसे में कट बंद करने का प्रस्ताव लिया। कॉम्पलेक्स में जाने वाले लोग और कॉचिंग विद्यार्थी गलत दिशा में वाहन चलाकर पहुंच रहे हैं। बेतरतीब वाहन पार्किंग हो रही है। इससे निजात के लिए पीली लाइन लगाने के साथ ही यातायात पुलिस की ओर से वाहन जब्त करने की कार्रवाई पर चर्चा हुई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned