कलक्टर-एसपी क्या तुर्रम खां है, सीआईडी सो रही थी...कटारिया ने उठाए सवाल, धारीवाल बोले अनुसंधान जारी

कलक्टर-एसपी क्या तुर्रम खां है, सीआईडी सो रही थी...कटारिया ने उठाए सवाल, धारीवाल बोले अनुसंधान जारी

Mukesh Hingar | Publish: Jul, 17 2019 09:07:02 AM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

पीलादर पथराव का मामला गूंजा विधानसभा में

GULAB CHAND KATARIA

SHANTI DHARIWAL

UDAIPUR

piladar

 

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. (UDAIPUR) पीलादर (piladar) में हत्या के मामले को लेकर पथराव, फायरिंग व आगजनी का मामला मंगलवार को विधानसभा में गूंजा। विपक्ष ने सरकार को कोसते हुए कहा कि उदयपुर के कलक्टर-एसपी क्या तुर्रम खां है जो पीलादर नहीं गए। यहीं नहीं सीआईडी सो रही थी क्या जिसको यह अहसास नहीं हुआ कि वहां माहौल बहुत खराब है। सरकार ने जवाब देते हुए कहा कि इस मामले में अनुसंधान जारी है और भी आरोपी होंगे तो गिरफ्तार किया जाएगा।
पीलादर के हालात को लेकर विस नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया (GULAB CHAND KATARIA) ने पूरा घटनाक्रम सदन में रखते हुए कहा कि वहां माहौल बिगडऩे में सबसे बड़ी भूल हुई है कि हमारे कलक्टर और एसपी ऐसे क्या तुर्रम खां है क्या जब चार दिन से गांव के लोग धरना लगाए बैठे है तब भी जाकर उनसे मिलना या समझाइश तक नहीं कराते है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जब गाडिय़ा जल जाती है, गोली चल जाती है, एक आदमी घायल हो जाता है, उसके बाद कलक्टर और एसपी दौडक़र जाते है, इस परिपाटी को तोड़े। कटारिया ने कहा कि यह समझ नहीं आ रही है कि सीआईडी इतने दिन तक उस क्षेत्र में इस प्रकार के वातावरण की रिपोर्ट नहीं दे सकी, अगर समय रहते इसकी सूचना एवं तैयारी होती तो शायद इतनी बड़ी घटना नहीं होती। कटारिया ने कहा कि कलक्टर व एसपी घटना के बाद वहां जाते है, पहले चले जाते और समस्या का समाधान कर देते तो यह नौबत नहीं आती। उन्होंने सरकार से कहा कि सबसे पहले उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई कीजिए जिन्होंने इस मामले को गंभीर नहीं लिया।

सरकार की तरफ से मंत्री धारीवाल ने जवाब दिया
स्वायत्त शासन मंत्री शांति कुमार धारीवाल (SHANTI DHARIWAL) ने जवाब देते हुए कहा कि संबंधित अधिकारियों के साथ लोगों को समझाइश का प्रयास किया लेकिन वे संतुष्ट नहीं हुए, इस हत्या में और भी आरोपी होने की बात को लेकर अनुसंधान जारी है, दो-दो प्रकरण दर्ज कर लिए है, अब अनुसंधान में अगर कोई दूसरा आदमी आता है तो निश्चित तौर पर कार्रवाई की जाएगी। कटारिया ने वापस बोलते हुए कहा कि 300 लोग गिरफ्तार रहेंगे तो क्या क्षेत्र में शांति होगी, उन्होंने कहा कि 500 लोग एकत्रित हो रहे थे तब आपकी सीआईडी सो रही थी क्या, कितनी फोर्स वहां चाहिए आपने केवल दो थानों के लोगों को भेज दिया, संख्या कम थी, कैसे नियंत्रण् होगा। धारीवाल ने कहा कि पुलिस ने 38 आरोपियों को गिरफ्तार किया है और धारा 151 में सिर्प 152 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया था। मावली विधायक धर्मनारायण जोशी ने कहा कि एक दिन पहले वहां आबकारी का छापा पड़ा, वहां नकली दारू बन रही थी, जोशी ने कहा कि मृतक रमेश के ऊपर आरोप लगा कि उसने मुखबिरी की है, पुलिस इस ट्रेक पर भी जांच करे।

इधर, प्रभारी मंत्री बोले कटारिया को ज्ञान नहीं..
इस बारे में प्रभारी मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल से पत्रिका ने बातचीत की तो बोले कि कटारिया जी को ज्ञान नहीं है, वहां वार्तालाप चल रहा था। वहां उपखंड अधिकारी से लेकर डिप्टी वार्तालाप कर रहे थे, बातचीत चल रही थी।

ये मुद्दे भी उठे विधानसभा में

1. ढीकली स्कूल का मुद्दा उठा
चौरासी विधायक राजकुमार रोत ने उदयपुर के ढीकली में संचालित मॉडल पब्लिक रेजीडेंशियल स्कूल में विद्यार्थियों पर प्रधानाचार्य और उनके सहयोगियों की ओर से अत्याचार व भ्रष्टाचार करने की बात कही। उन्होंने कहा कि वहां छात्राओं के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है, शारीरिक व मानसिक प्रताडना की जा रही है। एमपीआरएस प्रधानाचार्य लम्बे समय से हॉस्टल व स्कूल का सामान चोरी छिपे ले जाते है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए स्कूल का माहौल सुधारने की मांग की।

2. मानसी के दो चरण बन गए, फिर भी मावली प्यासी
मावली विधायक धर्मनारायण जोशी ने नियम 295 के तहत बोलते हुए कहा कि मावली तहसील की जनता पेयजल संकट से त्रस्त है। उदयसागर से बागोलिया बांध भरने की डीपीआर बन चुकी है लेकिन सरकार ने अभी तक वित्तीय स्वीकृति नहीं दी। बाघेरी नाका से मावली के पास होने के बावजूद भी पेयजल से वंचित रख रखा है। मानसी वाकल योजना एवं जाखम बांध से भी मावली के गांवों को पानी उपलब्ध कराने की योजना बनी थी। जोशी ने कहा कि मानसी वाकल के दो चरण बन चुके है लेकिन मावली के गांव आज भी प्यासे है। जामख से मावली व वल्लभनगर पानी लाने का सर्वे हो चुका है लेकिन योजना अटकी पड़ी है, इस समस्या का समाधान किया जाए।
...
3. लसाडिय़ा में बालिका स्कूल का मुद्दा
धरियावद विधायक गौतम लाल मीणा ने लसाडिय़ा में बालिका उच्च माध्यमिक स्कूल नहीं होने का सवाल उठाते हुए कहा कि मावि स्कूल को क्रमोन्नत करने का सरकार सोचती है क्या। शिक्षा मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा ने कहा कि बालिका स्कूल होता है तो उसमें फिर बालक नहीं पढ़ सकते है, सरकार के वित्तीय संसाधन होते है उसके हिसाब से निर्णय करना पड़ता है। मंत्री ने कहा कि इस पर बजट के हिसाब से विचार किया जाएगा।

4. उदयपुर में 276 गांव सडक़ों से नहीं जुड़े
ग्रामीण विधायक फूलङ्क्षसह मीणा के सवाल पर सरकार ने बताया कि उदयपुर जिले में 276 गांव ऐसे है जो सडक़ सुविधा से नहीं जुड़े है, इन गांवों को सडक़ों से जोडऩे का कार्य सरकार के उपलब्ध वित्तीय संसाधनों पर निर्भर करेगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned