तीन घंटे तक शहर भाजयुमो ने किया धानमंडी थाने का घेराव, लगाया पूरा जोर, टस से मस नहीं हुई ‘खाकी’, शहर भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया इस्तीफा सौंपने का एलान

Mukesh Kumar Hinger

Publish: Jan, 14 2018 07:32:16 AM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
तीन घंटे तक शहर भाजयुमो ने किया धानमंडी थाने का घेराव, लगाया पूरा जोर, टस से मस नहीं हुई ‘खाकी’, शहर भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया इस्तीफा सौंपने का एलान

- कार्यकर्ताओं को लेकर चिंतित जिलाध्यक्ष भट्ट ने भी 24 घंटे में कार्रवाई नहीं होने में खुद का इस्तीफा पार्टी को सौंपने का एलान

उदयपुर . गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के निर्वाचन क्षेत्र उदयपुर (शहर) में धानमंडी थाने के एक जवान को लाइन हाजिर करवाने को लेकर शनिवार दोपहर को तीन घंटे तक थाने का घेराव किया।

 

READ MORE : गोगुंदा प्रधान ने बीडीओ की पकड़ी गिरेबां, चेंबर में पत्रावली फाडक़र मुंह पर फेंकी, बीडीओ ने चार दिन बाद थाने में दी रिपोर्ट

 

शहर भाजयुमो जिलाध्यक्ष गजेंद्र भण्डारी के नेतृत्व में महामंत्री, उपाध्यक्ष, जिला मंत्री सहित अन्य पदाधिकारियों ने जिद पूरी नहीं होती देख भाजपा शहर जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट को इस्तीफे सौंप दिए। कार्यकर्ताओं को लेकर चिंतित जिलाध्यक्ष भट्ट ने भी 24 घंटे में कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में खुद का इस्तीफा भी पार्टी को सौंपने की बात कह डाली। बाद में भाजपा एवं भाजयुमो के ओहदेदार घर को लौट गए। इधर, देर शाम गृहमंत्री सहित अन्य पदाधिकारी नगर निगम सभागार में एक कार्यक्रम में शिरकत करते देखे गए। गृहमंत्री ने यहां तक कहा कि कौन, किसको इस्तीफा दे रहा है, इसकी उन्हें जानकारी नहीं है।

 


हुआ यूं कि भाजयुमो बूथ अध्यक्ष मुद्फ्फल अख्तारी के खिलाफ हेलमेट नहीं होने का चालान बनाने के मामले में संबंधित जवान पर मारपीट का आरोप लगाते हुए भाजयुमो शहर जिलाध्यक्ष भंडारी सहित बड़ी संख्या में मोर्चा कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब २ बजे थाने का घेराव किया। ये संबंधित जवान को लाइन हाजिर की मांग पर अड़े रहे। कुछ कार्यकर्ता आक्रोश में गृहमंत्री के व्यवहार को लेकर सवाल करते देखे गए। मौके पर पुलिस उपअधीक्षक गोपालसिंह, धानमंडी थाना प्रभारी राजेश शर्मा, घंटाघर थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह जैन, भूपालपुरा सीआई चांदमल सिंघारिया, महिला थाना प्रभारी चेतना भाटी सहित पुलिस जाप्ता मौके पर डटा रहा।

 


इधर, सूचना पर भाजपा अंबेडकर मंडल अध्यक्ष अतुल चण्डालिया, मुखर्जी मंडल अध्यक्ष चंचल अग्रवाल, उपाध्याय मंडल अध्यक्ष शंभू जैन, भाजपा नेता देवनारायण धायबाई, मनोहर चौधरी, अमृत मेनारिया एवं जिलाध्यक्ष भट्ट भी मौके पर पहुंचे। बात बिगड़ती देख भाजपा के मंडल अध्यक्षों ने भी मोर्चा पदाधिकारियों के साथ उनका इस्तीफा सौंपा।

 

महिला पुलिस का घेरा
धरने पर बैठे मोर्चा कार्यकर्ताओ को रोकने के लिए पुलिस अधिकारियों ने महिला सिपाहियों का घेरा बनाकर रखा। पुलिस के तरीके को भांपते हुए मोर्चा पदाधिकारियों ने उनकी हद बनाए रखी। मोर्चा ने पुलिस अधिकारियों से इसकी शिकायत भी की कि युवाओं के लिए महिला सिपाहियों की क्या जरूरत है। इधर, पुलिस के ओहदेदारों की मानें तो पीडि़त की ओर से अब तक पुलिस को इस मामले में कोई परिवाद नहीं दिया गया है। सोशल मीडिया पर मोर्चा की हलचल देख पुलिस प्रशासन एकबारगी मोर्चा जिलाध्यक्ष को कार्यालय में बैठक करने का भी न्योता दिया, लेकिन उन्होंने आंदेालन का रास्ता चुना।

 

सत्ता में या विपक्ष
हमारे कार्यकर्ता से पुलिस जवान ने मारपीट की। जवान से हमदर्दी दिखाते हुए हमने निलम्बन की बजाय लाइन हाजिर करने की मांग की। यह भी नहीं होना समझ में नहीं आता है कि हम सत्ता में हैं या विपक्ष में। हमने इस्तीफा जिलाध्यक्ष को सौंप दिया है।

गजेंद्र भण्डारी, जिलाध्यक्ष, शहर भाजयुमो उदयपुर


मेरी जानकारी में नहीं

किसने, किसको, कब इस्तीफा दिया है। मेरी जानकारी में नहीं है। एेसे सवाल का क्या जवाब दूं, जिसका पता ही नहीं। हमने सत्ता का दुरुपयोग नहीं किया और पुलिस को उनका काम करने से नहीं रोका।

गुलाबचंद कटारिया, गृहमंत्री


दोषी हुआ तो कार्रवाई
इस संदर्भ में मुझे कोई शिकायत नहीं मिली है। अगर, पुलिस जवान दोषी पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल मैं अवकाश पर हूं।

राजेंद्र प्रसाद गोयल, जिला पुलिस अधीक्षक, उदयपुर

 

मान गया मोर्चा
मोर्चा की शिकायत है पुलिस ने मारपीट की। पुलिस मना कर रही है। जांच से ही सच सामने आएगा। मैंने कहा है कि जांच रिपोर्ट में जवान दोषी पाया जाता है और पुलिस कार्रवाई नहीं करती तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। हम भी कार्यकर्ता के लिए बैठे हैं। पुलिस अधीक्षक से इस बारे में बातचीत करेंगे।

दिनेश भट्ट, जिलाध्यक्ष, शहर जिला भाजपा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned