scriptpos machine in ration shop,udaipur today news, rajasthan news | यहां पोस मशीन ‘अन्नदाता’, गांव के गांव मशीन के साथ चलते, फिर मिलता राशन | Patrika News

यहां पोस मशीन ‘अन्नदाता’, गांव के गांव मशीन के साथ चलते, फिर मिलता राशन

ग्रामीणों की परेशानियां बढ़ गई, बोले समाधान जरूरी

उदयपुर

Published: August 06, 2022 12:16:05 am

मुकेश हिंगड़

संचार क्रांति का दौर है। हर काम मिनटों में अपने मोबाइल से हो जाता है लेकिन मेवाड़ के कुछ गांव ऐसे है जहां पर गांव के गांव घर की रसोई को चलाने के लिए पोस मशीन के संग-संग पैदल सफर करते है। जहां मोबाइल का नेटवर्क आ जाता है वहां सब रुक जाते है। एक-एक कर सब अपना थम्ब इम्प्रेशन लगाते है फिर क्या आधा काम हो गया। बाद में राशन की दुकान पर जाते है और फिर उनको अपना गेंहू मिल जाता है। यह कहानी उदयपुर शहर की गिर्वा ब्लॉक के कुछ ग्राम पंचायतों व राजस्व गांव की है। वहां मोबाइल नेटवर्क नहीं होने से राशन की पोस काम नहीं करती है।
ऐसे गांवों में राशन की दुकान का संचालक सीधे राशनकार्ड धारियों को एकत्रित करता है और फिर पॉश लेकर निकल जाता है। करीब 7 से 15 किलोमीटर का सफर दूर करते है और जहां पर भी मोबाइल में नेटवर्क का सिंग्नल आ जाता है वहां रुक जाते है। हाइवे के पास या पहाड़ी की ऊंचाई पर जाते है जहां पर नेटवर्क आते ही पॉश मशीन शुरू की जाती है। एक-एक राशन कार्ड धारक को आवाज देते ही उसके थम्ब इम्प्रेशन लिए जाते है। यह प्रकिया पूरी होने के बाद समय मिलता तो उसी दिन नहीं तो अगले दिन राशन की दुकान पर बुला दिया जाता है फिर उसे राशन सामग्री दी जाती है। इस दरम्यान थम्ब इम्प्रेशन के लिए कोई रह जाता है तो उसे इंतजार करना होगा और बाद में उसके लिए भी उसी प्रकार की प्रक्रिया अपनाई जाती है।

ग्रामीण पहुंचे कलक्टर के पास
वैसे तो उदयपुर जिले के कोटड़ा-झाड़ोल इलाके में ऐसे कई केस आए जहां पर नेटवर्क की समस्याएं होती है पर उदयपुर के गिर्वा ब्लॉक जो उदयपुर-अहमदाबाद नेशनल हाइवे से लेकर आसपास के विकसित इलाकों में आता है पर वहां भी नेटवर्क की समस्या रहती है। गांव वालों ने एक नहीं कई बार आला अधिकारियों को अपनी पीड़ा बताई कि बिना नेटवर्क के उनको समय पर गेंहू नहीं मिल पा रहे है और गेंहू लेने से पहले उनको कितने पापड़ बेलने पड़ रहे है। अभी दो दिन पहले भी गांव से बड़ी संख्या में महिलाओं के साथ लोग आए और नेटवर्क को लेकर जिला कलक्टर को भी अवगत कराया।

इन गांवों के लोग चलते पोस मशीन के संग
ग्राम पंचायत जाबला के जाबला, नला, सरूपाल पंचायत के सरूपाल, मोरडूंगरी, सरू पंचायत के हायला कुई, पडुणा के कगरा, नेनबारा के नेनबारा,सेरा व अमरपुरा के गराड़ा गांव में नेटवर्क के लिए पॉश मशीन के संग चलना होता है।

विधायक बोले ऐसे और कई गांव है
ऐसे कई गांव है जहां पर मोबाइल नेटवर्क नहीं होने से लोग सुविधाओं से वंचित है। राशन लेने वाले परिवारों को राशन लेने से पहले कितने चक्कर लगाने होते है। घर से दुकान, दुकान से जहां नेटवर्क आए वहां तक की यात्रा फिर वापस दुकान पर तब जाकर राशन मिलता है। ऐसे गांवों को मोबाइल नेटवर्क से जोडऩा चाहिए और तत्काल समाधान करना चाहिए।
- फूलसिंह मीणा, विधायक उदयपुर ग्रामीण

देश में इतना बदलाव हो गया है फिर भी आज हमारे गांव की महिलाएं राशन के लिए इतना संघर्ष कर रही है। नेटवर्क से जोडऩे या नेटवर्क नहीं होने तक राशन वितरण को लेकर कोई दूसरा प्रबंध करना चाहिए।
- सुशीला मीणा, जाबला सरपंच

क्या है पोस मशीन
पूरा नाम पॉइंट ऑफ सेल होता है, जिसका हिंदी भाषा में पूरा नाम बिक्री केंद्र होता है। यह एक प्रकार का स्थान, दुकान या स्टोर है, जिस स्थान पर सामान को सेल करने का कार्य किया जाता है। पॉइंट ऑफ सेल एक प्रकार से कम्प्यूटर की तरह ही होती है, जो नकद रहित भुगतान करने के लिए उपयोग की जाती है। हालांकि इसके द्वारा न केवल ट्रांजेक्शन कार्य किए जा सकते हैं, बल्कि ग्राहकों को खरीद रसीद भी दी जा सकती है।
यहां पोस मशीन ‘अन्नदाता’, गांव के गांव मशीन के साथ चलते फिर मिलता राशन
यहां पोस मशीन ‘अन्नदाता’, गांव के गांव मशीन के साथ चलते फिर मिलता राशन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.