जी का झंझाल था पबजी, अच्छा हुआ जो बंद हो गया

पबजी सहित चीनी मोबाइल एप पर प्रतिबंध पर बोले उदयपुर वाले

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 03 Sep 2020, 09:18 AM IST

पत्रिका टीम / उदयपुर. चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच भारत सरकार ने बुधवार को पबजी एप सहित कई चीनी मोबाइल ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। पबजी सहित 118 अन्य मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने को लेकर अभिभावकों ने स्वागत किया है। पबजी बैन होने पर हमने उदयपुर शहर में स्टूडेंट, अभिभावकों से लेकर मनोरोग विशेषज्ञ से बातचीत करते हुए उनकी प्रतिक्रिया जानी। प्रस्तुत है उनके विचार-

अन्य बच्चे बच जाएंगे।

खेलों में नशा होता है, इस तरह से खेलों पर प्रतिबंध होना ही चाहिए। बच्चा ज्यादातर जुडऩे के बाद वह यदि खेलता नहीं है तो मनोदशा बिगडऩे लगती है, उसे कई तरह की परेशानी होती है। इस तरह के खेल बंद होने से कई अन्य बच्चे बच जाएंगे।
- डॉ सुरेश कोचर, मनोरोग विशेषज्ञ आरएनटी मेडिकल कॉलेज

मानसिक तौर खासा नुकसान होता

इस तरह के खेलों से बच्चों का मानसिक तौर पर खासा नुकसान होता है, दूसरी और उसकी पढ़ाई प्रभावित होती है। अभिभावकों को चाहिए कि वह बच्चों को इससे दूर रखे। सरकार ने इस तरह का प्रतिबंध लगाकर बेहतर कदम उठाया है।
- डॉ अशोक आदित्य, अभिभावक व शिशु रोग विशेषज्ञ

मोबाइल की लत भी कम होगी

बंद होना ही चाहिए था। हालांकि पबजी ने अपनी पॉलिसी में कुछ बदलाव कर बच्चों को अधिकतम दो घंटे ही अनुमति देता था, लेकिन पूरी तरह पाबंदी लगने से मोबाइल की लत कम लगेगी।
- अमित मिश्रा, अभिभावक

देश सर्वोपरी है

कई बच्चे मनोरंजन के लिए खेलते थे, तो कई युवा इससे पैसा भी कमा रहे थे। पबजी कई प्रतियोगिताएं भी करवाता है, जिसका प्राइज मनी करोड़ों रुपए में होता था। बंद होने का दु:ख मुझे है, लेकिन देश सर्वोपरि है।
- कौशल आचार्य, युवा

सरकार ने अच्छा किया

इन फालतू एप्स में हमारे बच्चे और देश अटका रहेगा तो भविष्य क्या होगा। बैन करके सरकार ने अच्छा किया है और हमारे बच्चों से लेकर युवाओं को बचाने का काम किया है।
- प्रीति दवे, अभिभावक

अच्छा-बूरा दोनों पहलू

इसने गेमिंग की दुनिया को बदलकर रख दिया था। चीज का अच्छा और बुरा पहलू होता है। पबजी को कई युवाओं ने डिजिटल गेमिंग में अपना कॅरियर भी बनाया। इससे उन्हें चोट लगेगी।
- अभिषेक, स्टूडेंट

यह निर्णय पहले ही करना था

हमारी नई पीढ़ी को इससे सरकार ने बचा लिया है। अच्छा कदम है और स्वागत योग्य है। सरकार को यह निर्णय बहुत पहले कर देना चाहिए था।
- वर्षा पालीवाल, अभिभावक

चीनी ऐप मोबाइल से हटा ही ले सब

सरकार का कदम स्वागत योग्य है। चीनी ऐपस से निजता एवं सुरक्षा को खतरा तो बना ही रहता, सभी को अपने मोबाइल से ये हटा भी लेने चाहिए।
- जितेन्द्र कुमार मेहता, अभिभावक

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned