उदयपुर में सडक़ों की सुध लेने आएंगे पीडब्ल्यूडी मंत्री खान, बांसवाड़ा व डंूगरपुर में भी देखेंगे निर्माण कार्यों को

-घटिया निर्माण एवं हाल ही में बनी सडक़ों से गिट्टी और डामर उखडऩे जैसी शिकायतों की वस्तुस्थिति जांचने के लिए पीडब्ल्यूडी मंत्री युनूस खान का आगामी दो दि

By: Jyoti Jain

Published: 28 Dec 2017, 07:09 AM IST

उदयपुर . घटिया निर्माण एवं हाल ही में बनी सडक़ों से गिट्टी और डामर उखडऩे जैसी शिकायतों की वस्तुस्थिति जांचने के लिए पीडब्ल्यूडी मंत्री युनूस खान का आगामी दो दिनों में उदयपुर आना तय है। चिकित्सक हड़ताल में सरकार की ओर से मध्यस्थता निभा रहे मंत्री खान के कार्यक्रम में कुछ संशोधन हो सकता है, लेकिन उनका उदयपुर आना तय है।

 

READ MORE : उदयपुर में बोहरा गणेश मंदिर मार्ग पर जमीनी विवाद, पुलिस पर हमला, सीआई की रिवॉल्वर लूट की कोशिश, पांच गिरफ्तार

 

खेरवाड़ा और सलूम्बर विधायक की सडक़ों के घटिया निर्माण को लेकर शिकायतों की जांच तथा अन्य सडक़ निर्माण की स्थिति जानने और धरातल पर इन निर्माण कार्यों की समस्याओं को लेकर मंत्री का बांसवाड़ा और डूंगरपुर जिले में भी जाना तय है। विभागीय स्तर पर मंत्री के आगमन को लेकर फिलहाल कोई कार्ययोजना नहीं है, लेकिन जनप्रतिनधियों के स्तर पर मंत्री का आना सुनिश्चित बताया जा रहा है। दूसरी ओर एक तथ्य भी है कि अब तक सडक़ों को लेकर शिकायतें करने वाले विधायक मामले को लेकर मौन हो गए हैं। उनकी ओर से विभागीय कार्रवाई पर संतोष भी जताया जाने लगा है।

 

भुगतान रोक, ठेकेदार को नोटिस
मामले में खेरवाड़ा विधायक नानालाल अहारी ने बताया कि कागदर सडक़ को जुलाई में बरसात के दौरान बनाया जा रहा था। कार्यकर्ताओं ने डामर के दूसरे दिन उखडऩे की शिकायतें मुझे की थी। मैंने सोशल मीडिया से उनसे फोटो मंगाए थे। मामले में मंत्री से शिकायत की। इसके बाद अधीक्षक अभियंता एवं संबंधित अधिशासी अभियंता ने बताया कि सडक़ निर्माण कार्य को लेकर ठेकेदार को किसी तरह का भुगतान नहीं हुआ है। मामले में विभाग ने ठेकेदार को नोटिस भी दिया था। पीडब्ल्यूडी मंत्री के क्षेत्र में आने की सूचना है, लेकिन वह रूटिन में सडक़ों की शिकायतों को जानने आएंगे। शिकायत वाली सडक़ का अब बहुत बड़ा विषय नहीं है।

 

मैंने नहीं की शिकायत : मीणा
सलूम्बर विधायक अमृतलाल मीणा ने कहा कि क्षेत्र में सडक़ों के खराबी होने को लेकर कोई शिकायत नहीं है। क्षेत्र में अधिकतर सडक़ें बन चुकी हैं। विधायक मीणा ने बताया कि खेरवाड़ा विधायक ने गुजरात को जोडऩे वाली कदई जांजरी-पाटिया जांजरी सडक़ को लेकर शिकायत की थी। जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग से 25-25 किलोमीटर की सडक़ों के निर्माण को लेकर बजट की मांग जरूर की थी।

 

होना चाहिए कायदा
विधायक अमृतलाल ने बताया कि पीडब्ल्यूडी मंत्री के समक्ष उन्होंने ठेकेदारों के बीच प्रतिस्पद्र्धा में बहुत कम लागत में कार्य लेने से बिगड़ रही कार्य गुणवत्ता की शिकायत जरूर की थी। विधायक मीणा ने कहा कि विभाग में वर्तमान में 35 से 40 फीसदी तक बिलो टेंडर का प्रचलन बढ़ गया है। इसका असर कार्य की खराब गुणवत्ता के तौर पर सामने आता है।

Jyoti Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned