PATRIKA IMPACT: उदयपुर शहर में कई जगह अनैतिक गतिविधियों के अड्डे, राधिका सेंटर की तलाशी में मिले ऐसे दस्तावेज

madhulika singh

Publish: Mar, 14 2018 02:35:35 PM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
PATRIKA IMPACT: उदयपुर शहर में कई जगह अनैतिक गतिविधियों के अड्डे, राधिका सेंटर की तलाशी में मिले ऐसे दस्तावेज

उदयपुर- राधिका सेंटर पर अनैतिक गतिविधियों में शहर व बाहर से कई महिलाओं के होने की जानकारी सामने आई है।

उदयपुर- राधिका सेंटर पर अनैतिक गतिविधियों में शहर व बाहर से कई महिलाओं के होने की जानकारी सामने आई है। सेंटर की तलाशी में कुछ दस्तावेज भी मिले है। मेरिज ब्यूरो का संचालन, ब्यूटी पार्लर व उदियापोल में एक छात्रावास संचालिका के सीधे सम्पर्क का भी पता चला है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं की जा रही है।

 

इस पूरे मामले में राधिका के साथ उसके पति बंशीलाल साहू की लिप्पता को लेकर भी पुलिस जांच जारी है। बंशीलाल अपनी पुत्री के साथ अलग मकान में रहता था तथा पुत्र के साथ राधिका सेंटर चलाती थी। बंशीलाल को सेंटर पर अनैतिक गतिवधियों के संचालन व वहां आने वाले लोगों के बारे में पूरी जानकारी थी। ऐसी सूचना पुलिस व प्रशासन को मिली है।

 

बयानों में हुई पुष्टि
प्रशासनिक स्तर की कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में इस सेंंटर के पिछले पांच सालों से तीन जगह चलना बताया। इनमें पूर्व में यह सेंटर हिरणमगरी मेनारिया गेस्ट हाउस के पास गली व महावीर कॉलोनी में चला। उसके बाद दो साल पहले न्यू टैगोरनगर पहुंचा। तीनों जगह पर संबंधित थाने के बीट कांस्टेबलों को इसकी पूरी जानकारी थी। कमेटी के समक्ष अलग-अलग लोगों के हुए बयानों भी पुष्टि हुई कि न्यू टैगोर नगर में भी तो सेंटर पर कुछ पुलिसकर्मियों का आना जाना लग था।


दलाली वाले दलाल से सीधे सम्पर्क
इस पूरे मामले के तार एक ऐसे दलाल से जुड़े भी हैं जो पहले कॉर्ल गर्ल सप्लायर मामले में पकड़ा जा चुका है। इसे पुलिस ने भी 32 लाख के रुपए की मांडवली में पकड़ा था। पूर्व में पुलिस अधिकारियों के नाम पर रौब जाड़ते हुए कई मामलों में दलाली के नाम पर लोगों से पैसा भी ले चुका है। सुखेर में युवती को चाकू मारने के मामले में भी नाम उछला था।


यह था मामला

मुंबई के मीरा रोड पुलिस ने 4 मार्च को एक दम्पती व उदयपुर की राधिका चाइल्ड केयर की संचालिका राधिका पत्नी बंशीलाल साहू को बच्चा बेचान के मामले में गिरफ्तार किया था। मुम्बई पुलिस से इसकी पुष्टी के बाद पत्रिका टीम ने चाइल्ड केयर पर पड़ताल की तो वहां दो और मासूम मिले, जिनके बारे में वहां मौजूद लोग स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाए, यह बच्चे किसके है और कहां से आए। जांच में सेंटर पर शराब की बोतलें तथा अन्य आपत्तिजनक सामग्री भी मिली।

 

जिस पर वहां मौजूद पुरुष व युवती अलग-अलग बयान देते रहे। पत्रिका ने उसी दिन परवरिश की आड़ में मासूमों की सौदेबाजी व रसोई में शराब की खाली बोतल, इधर.. दूध पीते दो मासूम, देखते ही किया दरवाजा बंद- शीर्षक से दो खबरें प्रकाशित की। उसके बाद पुलिस ने राधिका चाइल्ड केयर के खिलाफ विभिन्न धाराओं मेंं मामला दर्ज किया था। इसके बाद हाईकोर्ट रजिस्ट्रार के आदेश पर मामले की प्रशासनिक कमेटी ने जांच की।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned