कोरोना, करंट बिल, किसान व कानून व्यवस्था को लेकर निशाना होगा गहलोत सरकार पर

विधानसभा सत्र से पहले मेवाड़ के विधायकों ने की तैयारी, अधिकांश विधायक जन्माष्टमी मना रहे

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 13 Aug 2020, 12:19 PM IST

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. राजस्थान विधानसभा का चौदह अगस्त से शुरू होने वाले सत्र को लेकर मेवाड़ के विधायकों ने भी तैयारियां कर ली है। भाजपा ने जहां सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है वहीं कोरोना महामारी को लेकर भी विधायक तैयारी कर रहे है। यहां के विधायक कोरोना, करंट के बिल, किसानों के कर्जे से लेकर कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरेंगे। सबसे ज्यादा तो एक महीने में होटल में सरकार के कैद होने को लेकर रणनीति बनाई है।
विधानसभा सत्र को लेकर मेवाड़ से अभी कई विधायकों ने सवाल लगा दिए तो कई विधायक इस प्रक्रिया को पूरा कर रहे है। अभी तक बड़े स्तर पर उदयपुर संभाग में जीर्ण शीर्ण स्कूलों, सडक़ निर्माण स्वीकृति से लेकर पंचायत सहायकों के मुद्दों पर सवाल लगाए गए है। कांग्रेस की तरफ से भी विधायकों ने सवाल लगाने की तैयारी की है लेकिन वे पार्टी के एजेंडे के इंतजार में है।

26 सवाल तो कोरोना से जुड़े
विधानसभा में अभी तक लगे करीब 461 सवालों में से 26 सवाल तो कोरोना महामारी से जुड़े हुए है। विधायकों ने अपने विधानसभा क्षेत्र में चिकित्सा सुविधा, कोरोना टेस्ट, कोरोना लॉकडाउन से हुई परेशानियां आदि को लेकर सवाल किए है। मेवाड़ की बात करें तो राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी व चित्तौडगढ़़ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या ने 2-2 सवाल कोरोना से जुड़े हुए किए है। वैसे भी अब तक सर्वाधिक 27 सवाल तो राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी लगा चुकी है, वैसे तो उन्होंने 30 सवाल भेज दिए है अभी 27 वेबसाइट पर आ चुके है।

सरकार की महीने-डेढ़ महीने की गतिविधियां केन्द्र बिन्दु

इस समय तो विशेष रूप से महीने-डेढ़ महीने की जो गतिविधियां सरकार की रही है वहीं केन्द्र बिन्दु है। इस अवधि में जनता की परेशानी, कोरोना की विस्फोटक स्थिति बड़ा मुद्दा है। कोरोना काल में अस्पताल में सुविधाएं नहीं मिली। इसके अलावा प्रदेश में बिजली के बिल का करंट, टिड्डी दलों से परेशानी, कानून व्यवस्था, किसानों के कर्जा माफ की पालना नहीं सहित कई विषयों पर सरकार को घेरेंगे।
- गुलाबचंद कटारिया, विस में नेता प्रतिपक्ष

सरकार की जवाबदेही नहीं रही

सरकार के बीच का आपसी कलह से जनता कितनी परेशान हुई है यह बड़ा मुद्दा है। जनता का ख्याल रखने की बजाय सरकार संवेदनहीन रही। सरकार का जनता व उसके कार्य के प्रति जवाबदेही नहीं रही। कोरोना के केस से लेकर बच्चों की पढ़ाई तक को लेकर सरकार ने कोई काम नहीं किया है।
- किरण माहेश्वरी, विधायक राजसमंद

सरकार जवाब दें

जनता कोरोना से संकट में है। केस दिनों दिन बढ़ते जा रहे है। किसान परेशान है। आम जनता की सुध सरकार ने महीने भर में नहीं ली है। मुख्यमंत्री सुबह से लेकर शाम तक भाजपा का नाम ले रहे है। अब सरकार को जवाब देना होगा कि राजस्थान में जनता के लिए क्या किया है?
- धर्मनारायण जोशी, विधायक मावली

एजेंडे के अनुसार पक्ष रखेंगे

अभी एजेंडे में सरकार ने क्या रखा है। एजेंडा जैसे तय होगा उसके अनुसार अपना पक्ष रखा जाएगा। सवाल तो सत्र के बीच में ही रख सकते है।
- दयाराम परमार, विधायक खेरवाड़ा

Mukesh Kumar Hinger Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned