राजस्थान बजट : युवाओं को रोजगार मिले, आम लोगों को राहत

- जनता का बजट ...जनता की अपेक्षा

By: bhuvanesh pandya

Published: 21 Jan 2021, 08:55 AM IST

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. सरकार के आगामी बजट को लेकर युवाओं को काफी उम्मीदें है। कोरोना के दौर में यदि रोजगार के अवसरों का सृजन होगा तो भविष्य बेहतर होगा। मंहगाई से राहत से लेकर विद्यार्थियों के लिए शुल्क माफी जैसे प्रावधान हों, ताकि हर युवा को अपनी राह तैयार करने मेंं आसानी हो। युवा यदि मजबूत होगा तो परिदृश्य बेहतर होगा। राजस्थान पत्रिका ने प्रदेश के आगामी बजट को लेकर युवाओं का मन टटोला तो कुछ यूं विचार सामने आए। कोरोना काल के बाद आयी मंदी ने सभी वर्गो को प्रभावित किया और इन मंदी से उभरने के लिए मध्यम वर्गीय लोगो के लिए योजना बननी चाहिए। युवाओं के लिए रोजगार एवं उदयपुर संभाग में उद्योगों को स्थापना सबसे मुख्य विषय है।

- निखिलराज सिंह राठौड़, छात्रसंघ अध्यक्ष एमएलएसयू

----

आगामी बजट सत्र में राज्य सरकार से उम्मीद करते हैं की चौमुखीी विकास के तहत विभिन जनकल्याणकारी योजना लाई जाए। युवा एवं कौशल विकास के लिये विभिन्न योजनाएं शुरू हों। छात्रों के लिये विभिन्न स्कॉलरशिप व फैलोशिप योजना शुरू हों। कोरोना के तहत विद्यार्थियों को काफ ी परेशानी से जूझना पड़ा हैं। छात्रों के लिये विशेष पैकेज एवं फ ीस माफ ी की घोषणा की जाए।

मयूर दवे, प्रदेश सचिव एव प्रवक्ता राजस्थान एनएसयूआई

-----

विद्यार्थियों की फीस माफ करने के लिए प्रावधान किया जाए। जीएसटी की सीमा बढ़ाई जाए। युवाओं के लिए आसान व्यवसाय स्थापित करने के लिए ऋण योजनाएं शुरू की जाए, ताकि हम आत्मनिर्भरता की तरह बढ़ सके।

हिमांशु बागड़ी, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष, एमएलएसयू

-----

किसानों को फसलों के उचित दाम मिलने चाहिए। युवाओं को नए रोजगार सृजन की योजनाएं आए, ताकि वह व्यापार में आगे आ सके और अपने पैरों पर खड़े हो सके।

हिमांशु चौधरी, जिलाध्यक्ष युवा कांग्रेस (पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष, एमएलएसयू)

-----

बेरोजगारों के लिए रोजगार होबेरोजगारों के लिए अधिक से अधिक रोजगार तैयार हो। विद्यार्थियों के लिए फीस माफ हो, ताकि कोरोनाकाल में जो बजट का नुकसान हुआ है उसकी भरपाई हो। लंबित भर्तियां जल्द से जल्द हों।

हिमांशु पंवार जायँ, अध्यक्ष एमएलएसयू एनएसयूआई

----

सरकार को चाहिए कि किसानों के हित के लिए बड़े निर्णय करें। उदयपुर में पर्यटन विस्तार की योजनाओं पर भी फोकस हो। ज्यादा से ज्यादा रोजगारों की राह आसान हो।

दीपक गुर्जर, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष विज्ञान महाविद्यालय

------

महिलाओं के रोजगार के लिए विशेष योजना बने और उसका समय पर क्रियान्वयन हो। पेट्रोल व डीजल की कीमतों पर काबू हो। महंगाई नियंत्रित हो और घरेलू बजट पर खर्च कम हो ताकि कोरोनाकाल में लोगों को राहत मिले।

पायल परमार, अध्यक्षराजकीय मीरा कन्या महाविद्यालय, उदयपुर

-----

संविदा कार्मिकों का वेतन बढ़ाया जाए, विद्यार्थियों की फीस कम की जाए। रसोई के खर्च में कमी हो। कमजोर वर्ग के लोगों को आर्थिक सहायता के पैकेज जारी हो।

कोमल वैष्णव, उपाध्यक्ष राजकीय मीरा कन्या महाविद्यालय, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned