कांग्रेस नेता बोले दो-तीन पार्षदों से नेता प्रतिपक्ष नहीं होता, पीसीसी वाले बोले प्रदेश कांग्रेस ने बनाया है, आप कौन?

कांग्रेस नेता बोले दो-तीन पार्षदों से नेता प्रतिपक्ष नहीं होता, पीसीसी वाले बोले प्रदेश कांग्रेस ने बनाया है, आप कौन?
कांग्रेस नेता बोले दो-तीन पार्षदों से नेता प्रतिपक्ष नहीं होता, पीसीसी वाले बोले प्रदेश कांग्रेस ने बनाया है, आप कौन?

Mukesh Hingar | Updated: 11 Oct 2019, 12:09:57 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

कांग्रेस में घमासान,

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. गुटबाजी और आपसी विवाद में उलझी कांग्रेस में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों की हुई एक बैठक में फिर बवाल बच गया। अधिकतर पदाधिकारियों ने इस बात पर नाराजगी जताई कि हमे नगर निगम का चुनाव लडऩा है और नेता प्रतिपक्ष को बैठक में नहीं बुलाया, शहर कांग्रेस निकाय प्रकोष्ठ के मुखिया के.के. शर्मा ने कहा कि दो-तीन पार्षदों से नेता प्रतिपक्ष नहीं होता है तो पीसीसी सदस्य सुरेश श्रीमाली ने कहा कि उनको पीसीसी ने बनाया है।
असल में शहर अध्यक्ष गोपाल शर्मा के नाम से वरिष्ठ पदाधिकारियों को फोन कर सूचित किया गया कि नगर निगम चुनाव को लेकर पंचवटी कार्यालय में बैठक है। बैठक का एजेंडा नगर निगम चुनाव की तैयारियों को लेकर था। बैठक में पीसीपीसीसी सचिव नीलिमा सुखाडिय़ा, सदस्य सुरेश श्रीमाली, दिनेश श्रीमाली, ब्लॉक अध्यक्ष पूरण मेनारिया, फतह सिंह राठौड़ ने सबसे पहले सवाल उठाया कि निगम चुनाव पर बात हो रही है और बैठक में नेता प्रतिपक्ष मोहसिन खान नहीं है, एक-एक कर सभी ने सवाल उठाए तभी के.के. शर्मा बोले कि दो-तीन तीन पार्षदों में नेता प्रतिपक्ष नहीं होता है, एक पदाधिकारी ने तो इतना तक कहा कि शर्मा ने यह भी कहा कि मोहसिन की जरूरत नहीं है। यह सुनते ही विरोध बढ़ा, इन नेताओं ने केके शर्मा से ही पूछ लिया कि आप इस बैठक में कैसे है? शर्मा ने पक्ष रखते हुए कहा कि वे निकाय प्रकोष्ठ के अध्यक्ष है, तभी पदाधिकारियों ने कहा कि ऐसे कई प्रकोष्ठ पार्टी में है। मामला संभालते हुए पूर्व विधायक पूर्बिया ने कहा कि गलती हो गई, अगली बैठक में बुला देंगे। बैठक में पीसीसी सचिव पंकज शर्मा, पूर्व विधायक त्रिलोक पूर्बिया भी उपस्थित थे।

पूर्बिया को संयोजक बताया तो फिर विवाद
बैठक में के के शर्मा ने कहा कि विज्ञान समिति की बैठक में तय किया गया कि कमेटी बनाकर चुनाव संयोजक बनाना है, ऐसे में पूर्बिया को संयोजक बनाया देते है, सभी ने विरोध किया और कहा कि ऐसे कैसे हो सकता है, संयोजक बनाना है तो पीसीसी बनाएगी।

इनका कहना है...
बैठक की सूचना मिली तो मै गया। मैने एक ही बात कही कि वार्ड में ही मेहनत करने वाले को टिकट दिया जाए। पार्टी में गुटबाजी खत्म कर ताकत से चुनाव लडऩे की बात हुई तो फिर नेता प्रतिपक्ष को क्यों नहीं बुलाया गया, यह गलत था, इसे ठीक करने की बात कही।
- दिनेश श्रीमाली, पीसीसी सदस्य

नेता प्रतिपक्ष नहीं हो ऐसी कोई बात नहीं है। पीसीसी ने बनाया तो वे है। कुछ पदाधिकारी सस्ती लोकप्रियता प्राप्त करने के लिए कुछ भी बोल गए बाकी हम तो पार्टी मंच पर बैठक कर बात कर रहे थे, बाकी ऐसी कोई बात नहीं है।
- के.के. शर्मा, मुखिया कांग्रेस निकाय प्रकोष्ठ शहर

चुनाव संयोजक को लेकर पीसीसी से कोई नियुक्ति नहीं आई तो कैसे मान ले। हमारा कोई विरोध नहीं है लेकिन पार्टी जीते और अच्छा काम हो तो यह जरूरी है कि सबको साथ लेकर चले लेकिन नेता प्रतिपक्ष को नहीं बुलाया। हमने विरोध जताया था कि उनको बुलाना चाहिए था।
- सुरेश श्रीमाली, पीसीसी सदस्य

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned