RAJASTHAN DIGIFEST 2017: आईटी इनोवेशंस के महाकुंभ का उदयपुर में हुआ आगाज, देश भर से जुटीं युवा प्रतिभाएं

हेकाथॉन’ की उत्साही उमंग से शुरु हुआ 'राजस्थान डिजिफेस्ट'

By: Dhirendra Kumar Joshi

Published: 02 Dec 2017, 03:04 PM IST

 

उदयपुर . 'डिजिटल राजस्थान' की परिकल्पना को साकार करने और युवा प्रतिभाओं के नवाचारों को मंच देने के मजबूत इरादे के साथ दो-दिवसीय राजस्थान डिजिफेस्ट उदयपुर-2017 का आरंभ शनिवार को यहां मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय परिसर में हुआ। राजस्थान सरकार की अनूठी पहल के तहत 'डिजिफेस्ट' जयपुर और कोटा के बाद उदयपुर में भी ‘हेकाथॉन’ की उत्साही उमंग के साथ शुरू हुआ और इसमें भाग लेने के लिए प्रदेश और देश के मेधावी युवाओं का जोश देखते ही बना। आईटी प्रतिभाओं के इस महाकुंभ में देश के विभिन्न प्रान्तों से सूचना प्रौद्योगिकी, अभियांत्रिकी एवं अन्य तकनीकी विषयों के विद्यार्थी भाग ले रहे हैं और साथ ही विभिन्न विषय विशेषज्ञ तथा स्टार्टअप से जुड़ी हस्तियां भी इस समारोह में नव प्रतिभाओं को प्रोत्साहन दे रही हैं।

युवा प्रतिभाओं का मजबूत मंच
प्रदेश के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के तत्वावधान में आयोजित डिजिफेस्ट की शुरूआत ‘हेकाथॅान’ के साथ हुई, जिसमें 1500 से अधिक कोडर्स एवं विद्यार्थी अपनी प्रतिभा और नवाचार का प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार द्वारा संचालित देश की सबसे बड़ी यह 'हैकाथॉन' प्रतियोगिता लगातार 24 घंटे चलेगी। संभागियों ने राज्य सरकार के इस कदम को डिजिटल क्षेत्र में अनूठी पहल बताया और कहा कि इस प्रतियोगिता के माध्यम से प्रतिभाओं को मजबूत मंच मिल रहा है और नई पीढ़ी के उपयोगी और नवीन सुझाव सामने आ रहे हैं।

 

 

READ MORE: जाहनवी और ईशान का दिल धड़कने लगा उदयपुर में, बेटी को बूस्‍ट करने श्रीदेवी भी पहुंची सेट पर

 

 

24 घंटे चलेगी ‘हैकाथॉन’
‘हैकाथॉन’ में देश भर के विभिन्न इंजीनियरिंग व तकनीकी संस्थानों के विद्यार्थी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से शामिल हुए हैं। ये प्रतिभागी भामाशाह योजना , ई-मित्र, पर्यटन, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ब्लॉकचेन एवं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, वर्चुअल रियलिटी, बिग डेटा, बायो इन्फॉर्मेटिक्स आदि विषयों पर एप्लीकेशन के माध्यम से नवाचार व उपयोगी सुझाव 24 घंटे की अवधि के दौरान प्रस्तुत कर रहे हैं।


विजेता जीतेंगे आकर्षक पुरस्कार
हैकाथॉन में शामिल विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत एप्लीकेशन की संकल्पना, उपयोगिता, डिजाइन एवं क्रियान्वयन संभाविता के आधार पर शीर्ष टीमों को चुना जाएगा एवं विशेषज्ञों द्वारा उनका साक्षात्कार लेने के बाद विजेताओं का चयन कर उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा। विजेताओं में से शीर्ष तीन टीमों के साथ राज्य सरकार का प्रदेश के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग क्रमश: 15 लाख, 10 लाख और साढ़े सात लाख का करार करेगा। प्रतिभागियों को पुरस्कारों की दस अन्य श्रेणियों के लिए भी नामित किया जाएगा, जिनमें आईपैड, टेबलेट और सेलफोन जैसे आकर्षण पुरस्कार शामिल हैं।

DIGIFEST 2017 IN UDAIPUR
Show More
Dhirendra Kumar Joshi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned