कांग्रेस में अंदर ही अंदर चुनाव से पहले झगड़ा, पीसीसी को बोला फिर कांग्रेस मजबूती की बात बेकार

कांग्रेस में अंदर ही अंदर चुनाव से पहले झगड़ा, पीसीसी को बोला फिर कांग्रेस मजबूती की बात बेकार

Mukesh Hingar | Publish: Mar, 13 2019 12:00:06 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

पीसीसी का आदेश, डीसीसी अनजान

मुकेश हिंगड़ / उदयपुर. देहात कांग्रेस में अपने-अपने कार्यकर्ताओं को मौका दिलाने की चल रही कसरत में आखिर कुछ को सफलता मिली। प्रदेश कांग्रेस (पीसीसी) ने उदयपुर देहात कांग्रेस (डीसीसी) की कार्यकारिणी का विस्तार किया और उसमें 15 कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां दी गई, इसमें सर्वाधिक कार्यकर्ता मावली विधानसभा के है और इससे मावली का दबदबा बढ़ गया है। साथ ही पीसीसी से सीधे डीसीसी को पूछे बिना कार्यकारिणी का विस्तार को लेकर अध्यक्ष झाला समर्थकों ने विरोध जताया और जयपुर भी बताया। देहात अध्यक्ष के समर्थकों ने इस बात पर विरोध जताते हुए कहा कि डीसीसी की बिना राय लिए ओवरटेक की प्रक्रिया अपनाई जा रही है जो पार्टी को नुकसान पहुंचा सकती है। पीसीसी ने मंगलवार को आदेश निकालकर 15 कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियां दी, इसमें तीन उपाध्यक्ष, 6 महासचिव, 4 सचिव व दो जनों को प्रवक्ता बनाया गया। कार्यकारिणी तो कांग्रेस की एक महीने पहले घोषित की गई थी और उसमें 96 जनों को शामिल किया गया था। इसके बाद पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट ने मंगलवार को कार्यकारिणी का विस्तार किया।

जैसे ही कार्यकारिणी विस्तार की प्रति सोशल मीडिया पर पदधिकारियों के पास आई तो देहात अध्यक्ष लालसिंह झाला के समर्थक हक्के-बक्के रह गए, उनका विरोध था कि बिना अध्यक्ष को पूछे ऐसे कार्यकारिणी का विस्तार करना गलत है। झाला समर्थकों ने सूची जारी करने वाले प्रदेश महासचिव (संगठन) महेश शर्मा के समक्ष भी फोन पर नाराजगी जताई। सूत्रों के अनुसार पीसीसी को इतना बताया कि एक ऐसे कार्यकर्ता को भी पदाधिकारी बनाया गया जिसने विधानसभा चुनाव में मावली नामांकन भरने गए झाला के प्रति सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार किया, ऐसे में कांग्रेस कैसे मजबूत होगी।

मावली से सबसे ज्यादा पदाधिकारी बने
असल में पीसीसी प्रतिनिधि गोवर्धन सिंह चौहान ने जयपुर में सचिन पायलट के समक्ष आग्रह किया कि मावली विधानसभा के कई वरिष्ठ कार्यकर्ता है जिनको डीसीसी में नहीं लिया गया। चौहान ने करीब आठ जनों की सूची भी दी और खास बात यह है कि विस्तारित कार्यकारिणी में आठों ही जनों को जिम्मेदारियां दे दी गई। ऐसे में एकाएक मावली विधानसभा का डीसीसी में दबदबा बढ़ गया है। झाड़ोल के पूर्व विधायक हीरालाल दरांगी के समर्थकों को भी विस्तारित कार्यकारिणी में मौका मिला है।

विस्तार में इनको दी जिम्मेदारी
प्रकाश चंद नागदा, बाबूलाल खटीक, बालूराम शर्मा उपाध्यक्ष, राजेन्द्र जैन, दिलीप जारोली, नानसिंह सिसोदिया, महेन्द्रसिंह राणावत, सुखलाल सिंघवी, बालूराम गुर्जर, सचिव ललित कुमार शर्मा, कैलाश बैरवा, लव गुर्जर, नरेश जाट, प्रवक्ता हेमंत श्रीमाली व पन्नालाल मेघवाल को बनाया गया।

अब ऐसी होगी जम्बो कार्यकारिणी
पद... संख्या
अध्यक्ष... 01
संगठन महामंत्री... 01
उपाध्यक्ष... 29
महासचिव... 31
कोषाध्यक्ष... 01
प्रवक्ता... 05
सचिव... 24
सह सचिव... 19
कुल... 96

हमारे पास कई विधानसभा से कार्यकर्ताओं के फोन आए कि उनको भी मौका दिया जाए, नाम उनका भी शामिल करें, उनको समझाया है कि पीसीसी ने कार्यकारिणी का विस्तार किया है, कार्यकर्ताओं की भावनाओं को जयपुर पीसीसी को अवगत करवा दिया है, जो भी निर्णय है वह पार्टी का है।
- लालसिंह झाला, अध्यक्ष-देहात कांग्रेस कमेटी

हमारे मावली विधानसभा के कार्यकर्ताओं की भावनाएं अध्यक्ष पायलट के समक्ष रखी। उन्होंने कार्यकर्ताओं का सम्मान रखा यह हमारे लिए बड़ी बात है।
- गोवर्धन सिंह चौहान, पीसीसी प्रतिनिधि

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned