scriptराजस्थान का खूबसूरत शहर, जहां गर्मियों में ले सकेंगे सर्दियों का मजा, फैमिली को भी जरूर कराएं यहां की सैर | Patrika News
उदयपुर

राजस्थान का खूबसूरत शहर, जहां गर्मियों में ले सकेंगे सर्दियों का मजा, फैमिली को भी जरूर कराएं यहां की सैर

10 Photos
1 month ago
1/10
फतह सागर झील उदयपुर के सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है। यहां नीले पानी के साथ आसमान की खूबसूरती का नजारा देखने को मिलेगा।
2/10
सहेलियों की बाड़ी उदयपुर के प्रमुख उद्यानों में से एक है। यहां पर सुंदर पार्क, उद्यानों में लगे पेड़-पौधे, और फव्वारे पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।
3/10
पिछोला झील उदयपुर की प्रमुख खूबसूरत झीलों में प्रमुख है। यहां बोटिंग की अच्छी व्यवस्था है। यहां की खूबसूरती को देख पर्यटर खुद-ब-खुद खींचे चले आते हैं। इस झील के बीचों-बीच बना होटल लेक विदेशों में भी प्रसिद्ध है।
4/10
बाहुबली हिल्स उदयपुर के बड़ी तालाब के पास मौजूद है, जो इसे और भी खूबसूरत बना देता है। उदयपुर शहर से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर बड़ी झील स्थित है। इस झील को चारों ओर से अरावली की खूबसूरत पहाड़ियों ने घेरा हुआ है। इन्हीं पहाड़ियों को बाहुबली हिल्स के नाम से जाना जाता है।
5/10
उदयपुर का दूध तलाई, रात को शांत और एकांत घूमने के लिए सबसे बेस्ट जगह हो सकती है। एक तरफ झील और दूसरी तरफ करनी माता मंदिर की ऊंची पहाड़ी और उसका जंगल बेहतर अनुभव देगा।
6/10
मानसून पैलेस का निर्माण संगमरमर के पत्थरों से किया गया है। इस पैलेस में मुग़ल वास्तुकला से लेकर मेवाड़ी चित्र शैली को आसानी से देखा जा सकता है। इस महल के अंदर कई पार्क भी मौजूद है, जो इसे और भी खास बनाते हैं। इस महल के छत पर आप भी तोप मौजूद है, जिसे आसानी से देखा जा सकता हैं।
7/10
सहेलियों की बाड़ी- यह उदयपुर के प्रमुख उद्यानों में से एक है। यहां बने सुंदर पार्क और उनमें लगे पेड़-पौधे और फव्वारे लोगों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं।
8/10
सुखाड़िया सर्कल- इसमें एक छोटा कुंड है जिसमें 21 फीट लम्बे संगमरमर के फव्वारे हैं। रात के प्रकाश में ये बहुत सुंदर लगते हैं। इसका नाम राजस्थान के पूर्व मुख्य मंत्री मोहनलाल सुखाड़िया के नाम पर रखा गया है। पर्यटकों की चहल पहल वाले इस शहर के बीच फव्वारों से घिरा हुआ यह उद्यान स्वर्ग समान लगता है।
9/10
बागोर की हवेली का निर्माण वर्ष 1751 से 1781 ई. के बीच मेवाड़ के शासक के तत्कालीन प्रधानमंत्री अमर चन्द्र बडवा की देखरेख में हुआ था। ऐतिहासिक पिछोला झील के किनारे निर्मित इस हवेली में 138 कक्ष, बरामदे एवं झरोखे हैं। हवेली के द्वारों पर कांच एवं प्राकृतिक रंगों से चित्रों का संकलन आज भी मनोहारी है।
10/10
सिटी पैलेस, उदयपुर को राजस्थान का वेनिस भी कहते हैं। उदयपुर में झील के किनारे सूरज को डूबते हुए निहारना, सिटी पैलेस की सुंदर सजावट और पेंटिंग, लेक पिकोला का आइलैंड और तालाब के बीचो-बीच तैरता महल देखना अपने आप में एक अनोखा अनुभव होगा।
newsletter

Supriya Rani

सुप्रिया रानी राजस्थान पत्रिका में मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट के तौर पर कार्यरत हैं। उन्होंने जनर्लिजम की पढ़ाई लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, जलंधर से संपन्न की। अपने सपनों को पूरा करने के लिए गृहनिवास झारखंड से निकलीं और अभी जयपुर में सफर जारी है। घूमने और कविताएं, कहानियां लिखने का खूब शौक है। इनका मकसद पूरी ईमानदारी से लोगों की सेवा करना है। पत्रकारिता में अमर उजाला, नोएडा और एनबीटी से प्रशिक्षण प्राप्त कर 2022 में डीडी झारखंड में बकायदा न्यूज एंकर (कॉन्ट्रैक्ट) के तौर पर जुड़ीं। गरिमा टाइम्स, रोहतक और रोहतक की बात में भी एंकर कम रिपोर्टर के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुकीं हैं। अब राजस्थान पत्रिका, जयपुर के साथ आगे का सफर जारी है। इन्हें एंकरिंग, वॉयस ओवर, कंटेंट राइटिंग के फील्ड में काम करना पसंद है।
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.