video: राजसमंद में बंगाली व्यक्ति की नृशंस हत्या के विरोध में उदयपुर में जुटा ये समाज, तत्‍परता से जांच की मांग

संभागीय आयुक्त कार्यालय में जुटे समाजजन, दिया ज्ञापन

By: madhulika singh

Updated: 09 Dec 2017, 01:51 PM IST

 

उदयपुर . राजसमंद में बंगाली व्यक्ति की नृशंस हत्या के मामले में मुस्लिम समाज के लोगों ने शुक्रवार को अंजूमन तालीमूल इस्लाम संस्था के बैनर तले संभागीय आयुक्त कार्यालय की ओर कूच किया। बड़ी संख्या में जुटे समाजजन एवं संस्था के प्रतिनिधि मंडल ने आयुक्त को सरकार के नाम ज्ञापन सौंपकर मामले में पुलिस स्तर पर तत्परता से जांच पूरी करने, फास्ट ट्रेक अदालत में प्रकरण चलाकर आरोपित के खिलाफ जल्द से जल्द सजा सुनिश्चित करने की अपील की।


इससे पूर्व नमाज के बाद दोपहर को समाजजन चेतक सर्किल स्थित मस्जिद के बाहर जमा हुए। हिन्दुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए बड़ी तादाद में समाजजन आयुक्त कार्यालय की ओर बढ़े। सदर मोहम्मद खलील के नेतृत्व में पहुंचे समाजजन ने आरोप लगाया कि 6 दिसम्बर को आरोपित शंभूलाल रेगर ने अधेड़ उम्र के श्रमिक इफराजुल की बेरहमी से हत्या ही नहीं की बल्कि उसे जिंदा जलाने का दुस्साहस भी दिखाया है। आरोपित ने इसका वीडियो वायरल कर शांति व्यवस्था को चुनौती देने का भी कृत्य किया है। ऐसी गतिविधियां देश की एकता के लिए भी गम्भीर है। समाज ने मृतक के परिवार को मुआवजे के तौर पर एकमुश्त सरकारी सहयोग दिलाने, समाज विशेष के नाम पर गलत बयानबाजी देने वाले संगठनों को पाबंद करने की मांग भी की। समाज प्रतिनिधियों ने ज्ञापन के माध्यम से आयुक्त का ध्यान लव जेहाद की ओर भी खींचा।

 

READ MORE: video : शिकारी ने बिछाया था जाल, फंदे में फंसा पैंथर, ग्रामीणों की मदद से बची जान..


उन्होंने आरोप लगाया कि 9 सितम्बर को दूसरे समाज के युवक ने 14 वर्षीय बालिका का अपहरण किया। इस मामले में भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। आरोपित ने लव जेहाद के बदले की भावना से बालिका का अपहरण किया था। इसी तरह ज्ञापन में 5 सितम्बर की रात सवीना कच्ची बस्ती में समाजजन के घर पर कुछ उपद्रवियों की ओर से हुए हमले की भी निंदा करते हुए पुलिस से त्वरित कार्रवाई की उम्मीद जताई।

muslim community protest
Show More
madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned