Ramadan Mubarak : रहमत और बरकत का माहे रमजान हुआ शुरू, उदयपुर में रोजेदारों ने रोजा रख की इबादत

Ramadan Mubarak : रहमत और बरकत का माहे रमजान हुआ शुरू, उदयपुर में रोजेदारों ने रोजा रख की इबादत

madhulika singh | Publish: May, 18 2018 05:02:44 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

मुस्लिम समुदाय ने शुक्रवार को पहला रोजा रखा। दोपहर में परंपरानुसार जुम्मे की नमाज अदा की।

उदयपुर . पवित्र माह रमजान का चांद दिखाई देने के साथ ही मुस्लिम मोहल्लों में गुरूवार शाम से ही मगरिब की नमाज के बाद चहल-पहल व रौनक शुरू हो गई । मुस्लिम समुदाय ने शुक्रवार को पहला रोजा रखा। दोपहर में परंपरानुसार जुम्मे की नमाज अदा की। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित मस्जिदों में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने सामूहिक नमाज अदा की। समुदाय के लोगों की ओर से विशेष इबादत की गई। मस्जिदों के इमाम द्वारा तरावीह की नमाज में ‘ तिलावते कुरआन ’ की गई।

इस मुकद्दस माह में हर मुस्लिम इबादत कर खुदा से अपने गुनाहों की माफी चाहता है। इस साल रोजे करीब 15 घंटे के होंगे। पहली सेहरी 4 बजकर 19 मिनट पर खत्म होगी जबकि इफ्तारी शाम 7 बजकर 13 मिनट पर होगी। शनिवार सुबह 4.18 बजे सेहरी खत्म होगी। माहे रमजान का चांद दिखाई देने के साथ ही मुस्लिम समुदाय के लोगों ने घर-परिवार, रिश्तेदारों को मुबारकबाद दी। सेहरी के वक्त बनाई जाने वाली खीर और जरूरी खाद्य सामग्री खरीदने के लिए गुरुवार को दिनभर बाजारों में भी मुस्लिम महिलाओं की भीड़ रही।

 

READ MORE : VIDEO : मुस्लिम समुदाय के लोगों ने रखा पहला रोजा, फिर पढ़ी जुम्मे की नमाज

 

बरकत और रहमत बरसेगी पूरे माह -
-पवित्र रहमत और बरकत से भरा माहे रमजान मोहब्बत और भाईचारे का संदेश देने वाले इस्लाम के सार तत्व को भी जाहिर करता है।
- माहे रमजान अल्लाह से प्यार और लगन जाहिर करने के साथ ही खुद को खुदा की राह की सख्त कसौटी पर कसने का मौका देने वाला माह है।
- अल्लाह ने इसी माह में दुनिया में कुरान शरीफ को उतारा था जिससे लोगों को इल्म और तहजीब की रोशनी मिली।
- रोजा न सिर्फ भूख और प्यास बल्कि हर निजी ख्वाहिश पर काबू करने की कवायद है। इससे संयम और त्याग की भावना मजबूत होती है।
- रमजान के महीने में हर रोजेदार बहुत खास होता है और खुदा उसे अपने हाथों से बरकत और रहमत नवाजता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned