डॉक्‍टर ने पहले शादी का झांसा देकर क‍िया शारीरिक शोषण और बाद में करा द‍िया गर्भपात, पीड़‍िता ने लगाई न्‍याय की गुहार

डॉक्‍टर ने पहले शादी का झांसा देकर क‍िया शारीरिक शोषण और बाद में करा द‍िया गर्भपात, पीड़‍िता ने लगाई न्‍याय की गुहार

Madhulika Singh | Publish: Aug, 08 2019 12:39:55 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

- पीडि़ता ने बलात्कार व गर्भपात Rape with woman के लगाए थे गंभीर आरोप, पुलिस ने लगा दी थी एफआर, udaipur court न्यायालय ने प्रोटेस्ट प्रार्थना पत्र किया स्वीकार

उदयपुर . बलात्कार Rape with woman मामले में आरएनटी मेडिकल कॉलेज rnt medical college udaipur के सर्जरी विभाग में रहे एक चिकित्सक के विरुद्ध लगी एफआर पर न्यायालय udaipur court ने प्रोटेस्ट प्रार्थना स्वीकार किया। विशिष्ट न्यायाधीश अजा/अजजा (अनिप्र)के विशिष्ट न्यायाधीश दिनेश कुमार नागौरी की अदालत ने चिकित्सक जयवीर सिंह शेखावत के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी कर उसे तलब किया है।

परिवादिया ने 13 नवम्बर 2017 को एसपी को रिपोर्ट दी थी कि वर्ष 2015 में वह लोक कला मंडल के साथ थियेटर पर काम करती थी। इसी दौरान एक वेबसाइट ट्रूली मेडली के माध्यम से आरएनटी मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग में पीजी कर रहे उमरा सीकर निवासी जयवीर पुत्र घनश्याम सिंह शेखावत से जान-पहचान हुई। नेट पर लगातार वार्ता चलती रही। जयवीर ने उसे बहला-फुसलाकर शादी का झांसा दिया। वर्ष 2016 में उसने होली पर विवाह करने का वादा किया।

परिवादिया का कहना है कि जयवीर ने उसे एक दिन पीजी बॉयज हॉस्टल के कमरे पर पार्टी के बहाने बुलाया। विरोध के बावजूद ने उसने जबरन शारीरिक संबंध बनाए तथा कहा कि वह उसकी पत्नी की तरह है। पीजी पूरी करते ही वह उससे शादी कर लेगा। करीब 10 माह तक जयवीर गुमराह करते हुए उसने न तो शादी की और ना ही उसने परिजनों से मिलवाया। परिवादिया का कहना था कि तंग आकर वह एक्ंिटग की संभावना तलाशने के लिए मार्च 2017 में मुंबई चली गई। इस दौरान उसे गर्भवती होने का पता चला। उसने जयवीर से संपर्क कर शादी के लिए कहा तो वह बहाने करने लगा। उदयपुर आकर जयवीर से मिली तो उसने परिवार की स्थितियां अनुकूल नहीं होना बताते हुए गर्भपात के लिए कहा।

परिवादिया का कहना था कि उसने मना किया तो जयवीर 10 मई 2017 को अपने मित्र मंगेश सिंघाड़े के प्रतापनगर स्थित हॉस्टल के रूम पर ले गया। जयवीर ने उसे मंगेश की मदद से उसे जबरन दवाई देकर गर्भपात करवा दिया। फिर आरोपियों ने उसे वापस मुंबई भेज दिया। मुंबई में भी उसकी हालत खराब हो गई, वहां से जयवीर को बताया तो उसने आगामी छह माह में शादी करने का झांसा दिया। जब वह वापस उदयपुर आई तो पता चला कि जयवीर ने उसे धोखे में रखकर दूसरे से विवाह रचाने जा रहा है और उसकी सगाई की तैयारियां चल रही है। उसने आरोपी से कहा तो उसने मना कर दिया। उसके बाद उसने पिता को जानकारी दी। वे आरएनटी में जयवीर से मिले तो उसने किसी तरह के संबंध होने से इनकार कर दिया। एसपी के आदेश पर हाथीपोल थाने में मामला दर्ज किया गया लेकिन पुलिस ने जांच के बाद मामला झूठा बताते हुए न्यायालय में एफ आर पेश कर दी। इस पर परिवादिया ने न्याायलय में प्रोटेस्‍ट प्रार्थना पत्र पेश की। न्यायालय ने प्रोटेस्ट प्रार्थना पत्र को स्वीकार कर आरोपी डॉ.जयवीर सिंह शेखावत के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर पेशी पर तलब के आदेश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned