गर्भवती की प्रसव पीड़ा पर खाट पर डाल कर पार कराई नदी, अस्पताल पहुंचने से पहले ही नवजात की मौत

उदयपुर जिले के सराड़ा उपखण्ड में ग्राम पंचायत परसाद के आसावाणिया ग्राम को जोडऩे वाली सम्पर्क सड़क पर देवेन्द्र एनिकट पर बना पुल पानी के तेज बहाव में टूट गया।

By: kamlesh

Updated: 13 Sep 2021, 08:01 PM IST

परसाद। उदयपुर जिले के सराड़ा उपखण्ड में ग्राम पंचायत परसाद के आसावाणिया ग्राम को जोडऩे वाली सम्पर्क सड़क पर देवेन्द्र एनिकट पर बना पुल पानी के तेज बहाव में टूट गया।

रविवार को भी तेज बारिश के चलते नदी उफान पर रही और तेज बहाव के कारण आसावाणिया गांव को जोडऩे वाली सम्पर्क सड़क पर देवेन्द्र एनिकट के नीचे की तरफ बना पुल बह गया। पुल बहने के साथ ही लगभग 100 परिवारों का पंचायत मुख्यालय से सम्पर्क टूट गया।

इस दौरान गांव के जगदीश मीणा की पत्नी केसरी देवी के प्रसव पीड़ा होने लगी। कुछ समय तक तो ग्रामीणों ने नदी के बहाव को कम होने का इंतजार किया और गांव की महिलाओं ने प्रसव कराने का प्रयास किया लेकिन केसरी देवी की प्रसव पीड़ा बढ़ती जा रही थी।

इस पर परिजनों व पड़ोसियों ने तेज बहाव में जिन्दगी बचाने के लिए धात्री को खाट पर डाल कर नदी पार करवाई। इसके बाद महिला को परसाद सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया लेकिन तब तक नवजात ने गर्भ में ही दम तोड़ दिया।

जर्जर हो रहा था पुल
ग्रामीण केसुलाल ने बताया कि परसाद से आसावाणिया की दूरी मात्र 3 किमी है लेकिन नदी में तेज बहाव होने से गर्भवती को समय पर अस्पताल नहीं पहुंचा पाए। पुल की जर्जर अवस्था के लिए पूर्व में भी ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन को अवगत कराया था लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। नवजात को खोने वाले जगदीश मीणा ने बताया कि पुल के टूटने से मेरे बच्चे को बचाया नहीं जा सका। विपरित परिस्थितियों में ग्रामीणों ने जो सहयोग दिया उससे मेरी पत्नी की जिन्दगी बच गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned