scriptखनिज ही नहीं ग्रीन एनर्जी भी दे रहा आरएसएमएम | RSMM remained green not only by minerals | Patrika News
उदयपुर

खनिज ही नहीं ग्रीन एनर्जी भी दे रहा आरएसएमएम

यह बात कम ही लोग जानते हैं कि आरएसएमएम ग्रीन एनर्जी के उत्पादन में भी अपनी भूमिका निभा रहा है।

उदयपुरJun 26, 2024 / 10:50 pm

Rudresh Sharma

solar energy

राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लि. (आरएसएमएम) का नाम आते ही जेहन में खनिज निकाल वाली सरकारी कम्पनी की छवि उभरकर आती है। लेकिन यह बात कम ही लोग जानते हैं कि आरएसएमएम ग्रीन एनर्जी के उत्पादन में भी अपनी भूमिका निभा रहा है। जैसलमेर में अपने विंड फार्म और बीकानेर में सोलर प्लांट के जरिए कम्पनी सालाना करीब 12 करोड़ 65 लाख यूनिट बिजली नवीनीकृत माध्यमों से पैदा कर सरकार को बेच रही है।कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के उद्देश्य से कम्पनी ने 2001 में जैसलमेर में अपने 4.9 मेगावाट के विंड फार्म से पवन ऊर्जा के उत्पादन की शुरुआत की थी। जिसे आठ चरणों में साल-दर-साल बढ़ाया। वर्ष 2010 तक 108 टर्बाइन के साथ विंड फार्म की क्षमता 106.30 मेगावाट तक पहुंच गई। इन आठ चरणों में कम्पनी ने कुल 525 करोड़ रुपए का निवेश किया। जिससे 12 करोड़ यूनिट ऊर्जा का सालाना उत्पादन होने लगा। इससे कम्पनी को करीब 35 करोड़ रुपए का वार्षिक राजस्व प्राप्त हो रहा है। इसमें 10 फीसदी बिजली कम्पनी के झामर कोटडा संयंत्र के भी उपयोग में आ रही है।

सालाना 1.25 मीटि्रक टन कार्बन उत्सर्जन में कमी

पवन उर्जा उत्पादन से सालाना 1.25 लाख मीटि्रक टन कार्बन उत्सर्जन में कमी का आकलन किया गया है। कम्पनी का यह प्रोजेक्ट संयुक्त राष्ट्र संघ के कनवेन्शन ऑफ क्लाइमेट चेंज फ्रेमवर्क के तहत रजिस्टर्ड है। इसके साथ ही कम्पनी का स्वीडन के साथ कार्बन क्रेडिट बिजनेस का दीर्घकालिक अनुबंध है। जिसके तहत कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने वाली गतिविधियां संचालित की जाती है।

पांच हेक्टेयर में सोलर प्लांट

कम्पनी की ओर से 2014 में बीकानेर में पांच मेगावाट के सोलर प्लांट की शुरुआत की गई। जिससे सालाना 65 लाख यूनिट बिजली (सौर ऊर्जा) का उत्पादन हो रहा है। पांच हेक्टेयर के इस प्लांट पर 26 करोड़ का निवेश किया गया है। जिससे करीब ढाई करोड़ की सालाना आय होती है। हालांकि सरकार की ओर से 2019 से इसके भुगतान को लेकर गतिरोध बना हुआ है।

फैक्ट फाइल

2001 में 4.9 मेगावाट के विंड फार्म की शुरुआत

2010 तक विंड फार्म की क्षमता 106.30 मेगावाट0525 करोड़ का पवन ऊर्जा उत्पादन के लिए निवेश

0012 करोड़ यूनिट बिजली का उत्पादन0035 करोड़ का वार्षिक राजस्व पवन ऊर्जा से
2014 में 5 मेगावाट के सोलर प्लांट की स्थापना0026 करोड़ का सौर ऊर्जा संयंत्र में निवेश

0065 लाख यूनिट सोलर एनर्जी का वार्षिक उत्पादन002.5 करोड़ का सौर ऊर्जा से वार्षिक राजस्व

Hindi News/ Udaipur / खनिज ही नहीं ग्रीन एनर्जी भी दे रहा आरएसएमएम

ट्रेंडिंग वीडियो