विद्यालय भवन जर्जर, गिरने का अंदेशा


नहीं कराई मरम्मत और नहीं भेजा प्रस्ताव

By: surendra rao

Published: 07 Jul 2019, 12:12 AM IST

उदयपुर. झाड़ोल. उपखण्ड मुख्यालय के सती चौराहा स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के कई कमरे जर्जर है। भवन कभी भी गिर सकता है। विद्यालय प्रशासन की ओर से न तो मरम्मत की मांग की गई है और ना ही कोई प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा गया है जिससे दिनों दिन भवन की हालत जर्जर हो रही है।
सबसे पुराना भवन है ये
प्राचार्य कक्ष के पीछे एवं देव डूंगरी बावजी मन्दिर के सामने स्थित पांचों कमरे जर्जर है। कमरों की खिड़कियों की मच्छरदानियों में बड़े बड़े छेद होने से बरसात में जंतु घुसने का खतरा बना रहता है, कई कमरों की खिड़कियां टूटी होकर मौके से ही गायब हैं। आश्रम छात्रावास के पास स्थित कमरों की हालत भी जर्जर हं।
अन्य का क्या होगा

उपखण्ड मुख्यालय पर स्थित सबसे बड़े नोडल विद्यालय का ये हाल है तो कस्बे से दूर पहाड़ी क्षेत्रों के विद्यालयों का क्या हाल हो सकता है इसका अन्दाजा इसी से लगाया जा सकता है। इस विद्यालय में करीब ३५० छात्रों का नामांकन हैं। विद्यालय के सामने स्थित मैदान पर पानी भरा रहता है।
विद्यालय के सामने अतिक्रमण

विद्यालय के दोनों मुख्य दरवाजों के बाहर अतिक्रमण है। एक तरफ दिनभर लोडिंग वाहन खड़े रहते हैं तो दूसरी तरफ कैबिन वालों ने कब्जा कर अतिक्रमण कर रखा है, जिससे विद्यालय नजर ही नहीं आता है।
कहां जा रहा है बजट

विद्यालय में रमसा, छात्र विकास कोष समेत कई अन्य प्रकार का बजट आ रहा ह। हर छात्र से प्रतिवर्ष १२० रुपए विकास शुल्क वसूला जा रहा है।
एसएमसी की एक वर्ष से बैठक नहीं

सदस्यों ने बताया कि एक वर्ष से विद्यालय प्रबन्धन समिति की बैठक नहीं हो पाई हैं, जबकि नियमानुसार वर्ष में ४ से ६ बार तो बैठक होनी ही चाहिए। बैठक नहीं होने होने से विद्यालय विकास सम्बन्धित न तो चर्चा हो पाती है और न ही नए कार्यों के प्रस्ताव लिए जा सकते हैं।
इनका कहना है

एक वर्ष से बैठक नहीं हुई है। इससे पहले कक्षा कक्षों के निर्माण को लेकर चर्चा जरूर हुई थी। बजट कहा लगा रहे हैं और कहां नहीं, कोई जानकारी नहीं है ।
रामचन्द्र लक्ष्कार

सदस्य
विद्यालय प्रबन्धन समिति

मैंने गत माह ही कार्यभार संभाला है। विद्यालय प्रबन्धन समिति के सदस्यों से बात की है। शीघ्र ही बैठक बुलाकर प्रस्ताव लेंगें।
पूजा सहारण

प्रधानाचार्य
राउमावि, झाड़ोल

surendra rao Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned