स्कूल में ऐसा क्या हुआ कि इस छात्र ने घर जाकर खा लिया विषाक्त पदार्थ और कर ली खुदखुशी

कानोड़़ . विद्यालय की छुट्टी होने के बाद घर जाकर मंगलवार शाम विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया।

By: Bharat I Sharma

Published: 10 Nov 2017, 10:33 AM IST

कानोड़़ . कस्बे के चतुर राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के दसवीं कक्षा के छात्र चित्तौडगढ़़ जिले के डूंगला थानान्तर्गत बीड़ो का खेड़ा राजेन्द्र (17) पुत्र जवान सिंह सारंगदेवोत ने विद्यालय की छुट्टी होने के बाद घर जाकर मंगलवार शाम विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। उसे कानोड़ सीएचसी लाया गया, जहां से उदयपुर एमबी चिकित्सालय में भर्ती करवाया। जहां उपचार के दौरान बुधवार देर शाम उसने दम तोड़ दिया। आरोप है कि छात्र ने शिक्षक की कथित प्रताडऩा से तंग आकर यह कदम उठाया, लेकिन इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।

 

प्रारंभिक तौर पर माहौल न बिगड़े इसके लिए शिक्षा विभाग ने शिक्षक को कार्यमुक्त कर दिया है। हालांकि आत्महत्या के कारणों का फिलहाल स्पष्ट खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं कि शिक्षक की ओर से कथित रूप से डांटने व भरी कक्षा में अपमानित करने के बाद छात्र ने तनाव में आकर यह कदम उठाया। घटना की सूचना पर चित्तौडगढ़़ जिले की डूंगला थाना पुलिस मौके पर पहुंची व कारणों को जानने का प्रयास किया लेकिन परिजनों ने किसी के खिलाफ कोई शिकायत या रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई। इससे कारणों पर से पर्दा नहीं उठ पाया।

 

READ MORE: उदयपुर में यहां ट्रोले के चक्के से कुचलाया युवक का सिर, देखने वालों की निकल पड़ी चीख, video


मेधावी छात्र था राजेंद्र बता दें कि मृत विद्यार्थी का बड़ा भाई भी इसी विद्यालय में बारहवीं कक्षा में अध्यनरत है। पिता की करीब आठ वर्ष पहले सडक़ दुर्घटना में मौत हो चुकी है। इसके बाद माता तीन पुत्रों का मजदूरी कर लालन पालन कर रही थी। पुत्र के असमय चले जाने से मां का रो-रोकर बुरा हाल है। गांव में सन्नाटा पसरा रहा। गमहीन माहौल में गुरुवार शाम अंत्येष्टि की गई।


एडीईओ पहुंचे स्कूल, शिक्षक को किया एपीओ
शिक्षक पर आरोप लगने के बाद शिक्षा विभाग ने मामले को गंभीरता से लिया। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर गुरुवार को अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी चन्द्र शेखर जोशी स्कूल पहुंचे तथा छात्रों व स्टाफ से चर्चा कर घटना की जानकारी ली। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर आरोपित शिक्षक रामेश्वरलाल पाटीदार को एपीओ कर डीईओ कार्यालय पर उपस्थिति देने के निर्देश दिए गए हैं।

 

स्कूल में व्यवस्था बनी रही इसलिए शिक्षक को कार्यमुक्त किया। छात्रों, स्टाफ व मृतक के परिजनों के बयान में प्रताडऩा का मामला सामने नहीं आया।
चन्द्र शेखर जोशी, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी

 

READ MORE: उदयपुर में इस विदेशी महिला के साथ हुआ ऐसा कि होना पड़ा अस्पताल में भर्ती

 

उच्चाधिकारियों के निर्देश पर शिक्षक को एपीओ किया है।
राजेश गहलोत, प्रधानाचार्य,चतुर राउमावि कानोड़

 

राजेन्द्र के जहरीला पदार्थ खाने की रिपोर्ट उसके बड़े भाई ने दी थी। पुलिस मौके पर पहुंची। उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम कराया गया।
चिमनलाल, थानाधिकारी, डूंगला

 

राजेन्द्र तनाव में था। उसने घर पर किसी को कुछ नहीं बताया। विषाक्त पदार्थ खाकर खुदकुशी की।
महेन्द्र सिंह, परिजन

Bharat I Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned