यूं मिले थे शशि कपूर जेनिफर से और इस डायलॉग ने बना दिया उन्हें सभी का चहेता, देखें तस्वीरें

Madhulika Singh

Publish: Dec, 05 2017 12:02:56 PM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
1/7

बीस साल के युवा शशि ने जेनिफर से प्रेम विवाह किया था। उनके शब्दों में,‘मैंने जेनिफर को पहली बार थिएटर में बैठे हुए देखा थे। वह हमारा एक प्ले देख रही थीं। बात 1956 की है। हम कलकत्ता के थिएटर में शो कर रहे थे। ....हमने इसे अच्छा परफॉर्म किया...हमें आगे जारी रखने के लिए कहा गया। इसका मतलब था कि वहां परफॉर्म करने वाली अगली कंपनी यानी जियोफ्री केंडल की शेक्सपियराना इंटरनेशनल थिएटर कंपनी को इंतजार करना पड़ा।

उदयपुर . ‘जब-जब फूल खिले’ एक खूबसूरत और मासूम प्रेम कहानी जब पर्दे पर उतरी, तो एक मुस्कुराते हुए नायक की छवि भी दर्शकों के जेहन में उतर गई। ये थे शशि कपूर , जो कपूर खानदान से होने के बावजूद उसके असर से एकदम मुक्त नजर आए। यूं फिल्मी दुनिया में उनका आगाज तो बचपन में ही हो चुका था। पृथ्वीराज कपूर के इस सबसे छोटे बेटे को अभिनय विरासत में मिला था। खेलने के लिए सिर्फ घर का आंगन ही नहीं था, पृथ्वीराज थिएटर भी था। नाटक करते-करते एक बच्चे ने अभिनय की पाठशाला में कब दाखिला ले लिया, उसे पता ही न चला। वो बाल कलाकार बना। अपने बड़े भाई राज कपूर की फिल्मों ‘आग’ और ‘आवारा’ में भी नजर आया। शशि इतने व्यस्त थे कि दिन में तीन से चार फिल्मों की शूटिंग करते थे। अपने भाई राज कपूर को सत्यम शिवम सुंदरम’ के लिए वक्त नहीं दे पाते थे। राज साहब ने नाराज होकर उन्हें ‘टैक्सी’ कह दिया था क्योंकि शशि का मीटर हमेशा डाउन रहता था। 4 दिसम्बर 2017 को शशि जी ने आखिरी सांस ली।

 

 

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned