स्किल बिल्ड रिगनाइट से तैयार होंगे भविष्य के कॅरियर प्लेटफार्म

- कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने की शुरुआत

By: bhuvanesh pandya

Published: 26 Jun 2020, 08:20 AM IST

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. केंद्र सरकार के कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने आईबीएम के साथ मिलकर फ्री डिजिटल लर्निंग प्लेटफ ॉर्म स्किल बिल्ड रिगनाइट की शुरुआत की है। देश में नौकरी की चाह रखने वालों और बिजनेस ओनर्स के लिए अधिक से अधिक नए संसाधनों को प्रदान करने की मंशा से इसे लॉन्च किया गया है। आईबीएम ने इसके साथ ही स्किल बिल्ड इनोवेशन कैम्प भी लॉन्च किया है। यह दोनों नई पहल देश में वर्तमान कौशल अंतर को पाटने के लिए शुरू की गई हैं। स्किल बिल्ड रिगनाइट पहल को नौकरी चाहने वालों और उद्यमियों को मुफ्त ऑनलाइन कोर्स वर्क और सलाह की सुविधा प्रदान करने के लिए लॉन्च किया गया है। इससे उन्हें अपने करियर के साथ- साथ व्यवसायों को आगे ले जाने में भी मदद मिलेगी।

-----
प्रमुख विशेषताएं

- उद्यमियों के लिए व्यक्तिगत कोचिंग, छोटे व्यवसायों को शुरू करने या उन्हें दोबारा शुरू करने में मदद करने के लिए सलाह देना क्योंकि वे कोरोना महामारी से उत्पन्न हुई स्थिति से उभरने के प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर सके।
- स्किल बिल्ड इनोवेशन कैंप एक 10 सप्ताह का प्रशिक्षण कार्यक्रम है। यह कार्यक्रम सीखने में सुधार करने के लिए प्रैक्टिकल प्रोजेक्ट अनुभव प्राप्त करने में रुचि रखने वाले शिक्षार्थियों को 100 घंटे का प्रशिक्षण प्रदान करेगा और अपने नेटवर्क के निर्माण के साथ-साथ उनकी रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए समर्पित है।

- आईबीएम द्वारा आईटी नेटवर्किंग और क्लाउड कंप्यूटिंग में इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट और नेशनल स्किल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट द्वारा दो वर्ष का एडवांस डिप्लोमा पाठ्यक्रम शुरू किया गया है।
-----

माई इनर जिनियस
डिजिटल प्लेटफ ॉर्म छात्रों को माय इनर जिनियस के माध्यम से ज्ञान संबंधी क्षमताओं और व्यक्तित्व के संबंध में स्व.आकलन की सुविधा प्रदान करेगा। इससे छात्र डिजिटल प्रौद्योगिकियों के साथ-साथ व्यावसायिक कौशल जैसे कि बायोडेटा तैयार करने, समस्या समाधान और संचार संबंधी मूलभूत ज्ञान सीख सकेंगे। छात्रों को विशिष्ट नौकरियों के लिए भूमिका आधारित शिक्षा पर सिफ ारिशें भी मिलेगी जिनमें तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षण शामिल हैं।

------
प्रशिक्षण और प्रायोगिक शिक्षण अवसर

यह पहल रोजगार के लिए श्रम बल तैयार करने तथा नए कॉलर करियर्स के लिए अगली पीढ़ी के कौशलों का निर्माण करने की शुरुआत है, प्लेटफ ॉर्म उन्नति और एडुनेट फ ाउंडेशन जैसे प्रमुख गैर सरकारी संगठनों की सहायता से शुरू किया गया है। आईबीएम के स्वंयसेवी गैर सरकारी संगठनों के साथ मिलकर छात्रों को प्रशिक्षण और प्रायोगिक शिक्षण अवसर प्रदान करेंगे। आईबीएम ने कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के साथ मिलकर 2018 के आरंभ में अपने किस्म का पहला न्यू कॉलर करिकुलम प्रारंभ किया था। सितंबर 2019 में इस पाठ्यक्रम के सफ लतापूर्वक संपन्न होने के बाद 19 छात्रों को आईबीएम में 5 महीने की भुगतान सहित इंर्टनशिप दी गई।

bhuvanesh pandya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned