अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट से जुड़ेगी जनता : सोशल मीडिया पर रहेगी स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट्स की जानकारी

साथ ही कोई सुझाव या शिकायत इस प्रोजेक्ट को लेकर है तो जनता सोशल मीडिया के माध्यम से प्रशासन का ध्यान उस ओर आकर्षित कर सकती है

मधुलिका सिंह/उदयपुर. स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को लेकर प्रशासन ने एक सकारात्मक पहल की है। इस पहल के तहत स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत जो भी काम हो रहे हैं, उस पर अब सीधे जनता भी नजर रख सकेगी। साथ ही कोई सुझाव या शिकायत इस प्रोजेक्ट को लेकर है तो जनता सोशल मीडिया के माध्यम से प्रशासन का ध्यान उस ओर आकर्षित कर सकती है। सोशल मीडिया टीम की गठित स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट से जनता को जोडऩे के लिए सोशल मीडिया पर उदयपुर स्मार्ट सिटी के नाम से अकाउंट्स बनाए गए हैं। इनमें फे सबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम अकाउंट्स बनाए गए हैं। कौन-सा प्रोजेक्ट कहां चल रहा है, किस प्रोजेक्ट पर कितना काम हो रहा है, कितना हो चुका है, कितना पैसा खर्च हो चुका है आदि जानकारी इन अकाउंट्स पर शेयर की जाएगी। इसके लिए एक सोशल मीडिया टीम भी गठित की गई है जो इसे अपडेट करेगी और इस पर आने वाली हर सूचना के बारे में स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को बताएगी। स्मार्ट सिटी के अधिकारी इसे मॉनिटर करेंगे। साथ ही जनता को स्मार्ट सिटी के काम से क्या शिकायतें हैं और वे अगर कोई सुझाव देना चाहते हैं तो वे इस पर दे सकेंगे।

ज़ानिए स्मार्ट सिटी को

स्मार्ट सिटी मिशन में देश के प्रमुख 100 शहरों के बीच प्रतियोगिता हुई। जनता की भागीदारी से उदयपुर ने प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त किया परिणाम उदयपुर पहली 20 सिटी में चयनित हो गया। इस योजना अन्तर्गत प्रत्येक शहरों को प्रतिवर्ष 100 करोड तथा 5 वर्षो के लिए कुल 500 करोड केन्द्र सरकार द्वारा अनुदान एवं इतना ही अंशदान राज्य सरकार व नगर निकाय को जोड़ा जाता है।.

क़ाम जो पूरे हो चुके हैं -

गुलाबबाग व अन्य जगह पर ओपन जिम की स्थापना - सरकारी स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम की स्थापना - सरकारी भवनों की छत पर सौलर पैनल की स्थापना - अभय कमांड एंड कंट्रोल रूम की बिल्डिंग का निर्माण - पीडब्ल्यूडी गैरेज के पास पार्किंग का निर्माण - महत्वपूर्ण स्थानों पर ऑटोमेटिक सेनेटरी वेंडिंग मशीन स्थापित की। - हेरिटेज भवनों का जीर्णोद्धार

क़ाम जो चल रहे हैं

सीवरेज प्रबंधन का कार्य - एबीडी एरिया का विकास - पार्किंग स्थल के विकास - सिटी बस शेल्टर का निर्माण - सरकारी स्कूलों के भवनों का जीर्णोद्धार- सूरजपोल चौराहा का विकास

इनका कहना है..

स्मार्ट सिटी में अब तक जो काम हो रहा था, वह सिर्फ एक्सपर्ट के साथ डिस्कस कर के हो रहा था लेकिन अब जनता भी इसकी भागीदार बन सकती है। जनता को सोशल मीडिया के माध्यम से इसकी पूरी जानकारी दी जाएगी। जनता के सुझाव आते हैं तो वे भी स्वीकार किए जाएंगे। उम्मीद है कि इससे अच्छे परिणाम मिलेंगे।

कमर चौधरी, सीईओ, स्मार्ट सिटी

madhulika singh
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned