माह का पहला सप्ताह रहेगा लेनदेन के नाम, बैंकों के सामने चुनौती

बैंक में पर्याप्त राशि और व्यवस्था : शहर से लेकर गांव तक किए बंदोबस्त, ना घबराएं

By: Pankaj

Updated: 01 Apr 2020, 02:16 AM IST

उदयपुर . अमूमन माह की शुरुआत पर पहले सप्ताह में बैंकों से अधिकाधिक लेन देन होता है। वजह पेंशन, वेतन, सरकारी योजनाओं का लाभ आदि है। इस बार लॉक डाउन में अप्रेल की शुरुआत हो रही है। लिहाजा पेंशन, वेतन और सरकार की ओर से खाते में डाली गई राशि लेने के लिए लोगों की आवाजाही बैंक शाखाओं और एटीएम आदि पर रहेगी। इसी को ध्यान में रखते हुए एसबीआई प्रबंधन की ओर से पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं। लोगों से अपील की गई है कि बैंक, एटीएम में पर्याप्त राशि रहेगी। कोई घबराएं नहीं, भीड़ ना करें।
हर माह जहां सरकार की ओर से विभिन्न योजनाओं के तहत बैंक खातों में राशि जमा होती है, वहीं सरकारी, गैर सरकारी कर्मचारियों को वेतन का भुगतान होता है। योजनाओं के तहत प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, जनधन योजना, वृद्धावस्था, विधवा, दिव्यांग पेंशन योजना आदि से पेंशन राशि जमा होती है। यह प्रक्रिया माह के पहले सप्ताह में की जाती है। लिहाजा राशि पाने वालों की तादाद भी पहले सप्ताह में अधिकाधिक रहती है। अप्रेल के पहले सप्ताह की शुरुआत बुधवार को हो रही है, जबकि लॉकडाउन के चलते लोग आवश्यक कार्य से ही बाहर निकल पा रहे हैं। एक से दस अप्रेल तक लोगों के बैंक शाखाओं में पहुंचने की संभावना को लेकर विशेष तैयारियां की गई है।
कस्टमर सर्विस सेंटर उपयुक्त
बैंक शाखाओं में काम का दबाव कम करने के लिए गांव-गांव कस्टमर सर्विस सेंटर खोले गए हैं। जोन में 900 सेंटर हैं, जो सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुले रहने को पाबंद हैं। सेंटर से नकद राशि प्राप्त की जा सकती है। एटीएम में भी हर समय नकदी उपलब्ध कराई जाएगी।
व्यवस्थाएं पर्याप्त
उदयपुर जोन में 8 जिले आते हैं, जिसमें संभाग के 6 और भीलवाड़ा-सिरोही जिले हैं। इनमें विशेष बंदोबस्त किए गए हैं। आमजन को घबराने की जरुरत नहीं। भीड़ ना करें, आवश्यक होने पर ही बैंक पहुंचे। एटीएम और कस्टमर सर्विस सेंटर का उपयोग करें। सभी जगह पर्याप्त कैश उपलब्ध है। एटीएम से ट्रांजेक्शन की सीमा में भी जून तक छूट है।
एस. विजय कुमार, उपमहाप्रबंधक (उदयपुर जोन), एसबीआई

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned