इन इलाकों में सवालों के घेरे में है विद्युत निगम का बारिश पूर्व रखरखाव

इन इलाकों में सवालों के घेरे में है विद्युत निगम का बारिश पूर्व रखरखाव

Sushil Kumar Singh Chauhan | Publish: Jun, 20 2019 07:59:06 PM (IST) Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

ग्रामीण इलाकों में बिजली बनी बैरन, अघोषित विद्युत आपूर्ति से परेशान ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

उदयपुर/ सलूम्बर. बरसात और त्योहारों से पहले बिजली लाइनों की मरम्मत के नाम पर घंटों तक होने वाली बिजली कटौती उदयपुर जिले के ग्रामीण इलाकों में सवालों के घेरे में आ गई है। प्री-मानसून की बरसात के बीच सलूम्बर सहित अन्य ग्रामीण इलाकों में कई बार गुल होने वाली बिजली से ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ रहा है। समस्या प्रभावित ग्रामीण एवं सलूम्बर नगर वासियों ने गुरुवार को क्षेत्रीय उपखण्ड अधिकारी व विद्युत निगम के सहायक अभियंता को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बीते 15 दिन से टोडा, सेरिया, डाल, थड़ा सहित समीपवर्ती इलाकों में हल्की हवा और रिमझिम के बीच विद्युत निगम की ओर से सप्लाई काट दी जाती है। रात होते ही गांवों में अंधेरा छा जाता है। बारिश में जहरीले जीवों का संकट गहरा रहा है तो रात के समय चोरों की दस्तक का संकट भी बना रहता है। ग्रामीणों ने बताया कि मंगलवार दोपहर करीब ३ बजे बारिश होते ही बिजली गुल हो गई, जो देर रात तक नहीं आई। स्थानीय उपभोक्ताओं की ओर से निगम के जिम्मेदारों को कई बार दूरभाष पर संपर्क साधा गया, लेकिन हर स्तर पर निराशा हाथ लगी।

5 माह में 6 बार मरम्मत?
आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि विद्युत निगम के जिम्मेदारों ने बीते ५ माह के दौरान ६ बार फीडर मरम्मत के नाम पर सलूम्बर नगर एवं समीपवर्ती इलाकों में बिजली गुल रखी है। नगर के चुंगीनाका, डाल चौराहा व गांधी चौक जैसे बड़े फीडर भी इसी प्रक्रिया का हिस्सा रहे हैं।
ज्ञापन देने वालों परमानंद मेहता, सोहन चौधरी, विनोद जैन, तुलसीराम मेहता, दिनेश मेहता, खुशाल मेहता, सुरेश मेहता, कानजी मेहता, लक्ष्मण सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

हर रात होती है बिजली गुल
मावली (निप्र). इधर, मावली में भी प्री-मानसून की बरसात के बाद बिजली आपूर्ति का संकट गहरा रहा है। क्षेत्रीय कस्बे वासियों का आरोप है कि विद्युत निगम तंत्र की खामियों के बीच उनके इलाके की हर रात काली होती है। गर्मी के दिनों में रात के समय अघोषित विद्युत आपूर्ति से आम आदमी की दिनचर्या प्रभावित हो रही है। मावली, गारियावास, बडियार, मावली गांव, आसोलिया की मादड़ी सहित अन्य इलाकों में दिन के समय कभी भी दो से तीन घंटे की अघोषित बिजली कटौती कर दी जाती है। वहीं मावली नगर क्षेत्र में ऐसी कटौतियां दिन में १०-१५ होती है। यहां भी लोगों की यही शिकायत है कि कटौती के बीच निगम के जिम्मेदार उपभोक्ताओं का फोन नहीं उठाते हैं। क्षेत्रीय लोगों ने विद्युत निगम से आए दिन होने वाले आंख मिचौनी के खेल को रोकने की मांग की है।

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned