राजस्‍थान में नए साल में होगा स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण, मलमास बाद उदयपुर देगा स्वच्छता का इम्तेहान

राजस्‍थान में नए साल में होगा स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण, मलमास बाद उदयपुर देगा स्वच्छता का इम्तेहान

Mukesh Hingar | Publish: Dec, 30 2017 02:52:13 PM (IST) Udaipur, Rajasthan, India

जनवरी के दूसरे सप्ताह आएगी स्वच्छता सर्वे टीम

उदयपुर . मलमास बीतते ही, यानि कि जनवरी के दूसरे सप्ताह में शहर स्वच्छता का इम्तेहान देगा। प्रदेशभर में होने वाले सर्वे के तहत उदयपुर में टीम जनवरी के दूसरे सप्ताह में आएगी। सर्वे से पहले उदयपुर नगर निगम भी रिपोर्ट दस्तावेजों के साथ तैयार कर रही है। स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 का काउंटडाउन शुरू हो गया है। राज्य में चार जनवरी से केन्द्र सरकार की टीमें सर्वे के लिए आना शुरू होगी। प्रदेश में टीम के संभावित कार्यक्रम को देखते हुए तैयारियां जोरों पर है। देशभर में सर्वे टीमें 4 जनवरी से 28 फरवरी तक शहरों में स्वच्छता की रैकिंग देने के लिए सर्वे करेगी।


गत वर्ष 6 फरवरी को आई थी टीम
स्वच्छता सर्वेक्षण-2017 में उदयपुर की स्थिति देखने के लिए शहरी विकास मंत्रालय की क्यूसीआई टीम छह फरवरी को आई थी। तीन सदस्यीय टीम ने शहर में कई जगह कचरे के ढेर देखे। कुछ जगह बेहतर सफाई मिली। कई लोगों से फीडबैक भी लिए, ओडीएफ के काम भी देखे थे।

 

READ MORE : उदयपुर का एमबी हॉस्पिटल अब खुद की छवि के साथ मरीजों को नई सुविधा मुहैया कराएगा, जांच योजना में आई ‘नई बीमारी’

 

यह देखेगी टीम
आवासीय, व्यवसायिक क्षेत्रों पर सफाई कार्य।
सार्वजनिक शौचालयों की बनावट और सफाई स्थिति।
सार्वजनिक शौचालयों से निकलने वाले अपशिष्ट का प्रबंध।
सार्वजनिक शौचालयों का प्रचार, संकेतक की स्थिति।
सब्जी मंडी और मीट बाजार में सफाई की स्थिति।
रेलवे स्टेशन व मुख्य बस स्टेशन पर सफाई की स्थिति।
नागरिकों से स्वच्छता अभियान से संबंधित फीडबैक।

किस शहर में कब जाएगी सर्वे टीम
उदयपुर : 8 से 28 जनवरी
राजसमंद : 10 से 28 जनवरी
चित्तौडगढ़ : 4 जनवरी से 3 फरवरी
प्रतापगढ़ : 10 से 22 जनवरी
बांसवाड़ा : 18 से 28 जनवरी
डूंगरपुर : 25 जनवरी से 8 फरवरी

 

इन प्वाइंट्स पर किया जाएगा जज

भारत को स्वच्छ बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छता अभियान शुरू किया गया है। यह सर्वेक्षण भी पीएम मोदी के स्वच्छ भारत के सपने का ही हिस्सा है। केंद्र सरकार के इस सर्वेक्षण का मंतव्य शहरों को गंदगी मुक्त करना है। सबसे ज्यादा स्वच्छ व साफ-सुथरे शहर को केंद्र सरकार की ओर से आर्थिक मदद भी प्रदान की जाएगी।

30 प्रतिशत- घर से कूड़ा उठाना

25 प्रतिशत- कूड़े की प्रोसेसिंग

30 प्रतिशत- घर-पब्लिक टायलेट

5 प्रतिशत- पब्लिक अवेयरनेस

5 प्रतिशत- कैपेसटी बिल्‍डिंग

5 प्रतिशत- इनोवेशन

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned