VIDEO : स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 : लेकसिटी प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार पर चुनौतियां बहुत

www.patrika.com/rajasthan-news

By: Mukesh Kumar Hinger

Published: 18 Dec 2018, 12:14 PM IST

Udaipur, Udaipur, Rajasthan, India

उदयपुर. विधानसभा चुनाव निपटाने के बाद नगर निगम के अफसर स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 की परीक्षा में जुट गए है। सबसे बड़ी बात यह है नगर निगम के कामकाज के हिसाब-किताब के दस्तावेजों को ऑनलाइन अपलोड करना। सोमवार आखिरी तारीख होने से निगम की टीम ने देर रात तक यह कार्य पूरा किया। अब निगम जनवरी महीने में होने वाली मौखिक परीक्षा को लेकर भी पूरी तैयारी कर रही है क्योंकि इस बार सर्वेक्षण में कई बदलाव किए गए है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के तहत निगम ने जहां लोगों को जागरूक करेन और सफाई विंग को सक्रियता बढ़ाने की बात भी कही है। महापौर व आयुक्त ने भी भी इस सर्वेक्षण को लेकर पूरी गंभीरता दिखाई है और तैयारियां शुरू कर दी है। सब उम्मीद लगाए बैठे है कि इस बार उदयपुर का नंबर पहले से और बेहतर हो।

जानकारियों के साथ लगाए दस्तावेज
ऑनलाइन जानकारियां दस्तावेजों के साथ अपलोड करने की अंतिम तिथि 15 दिसम्बर थी लेकिन इसे आगे बढ़ाते हुए 17 दिसम्बर कर दिया गया था, ऐसे में सोमवार की रात तक निगम की टीमें इस कार्य में जुटी थी। आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग के नेतृत्व में एक्सईएन मनीष अरोड़ा सहित टीम ने इस कार्य को अंजाम दिया। इसमें जो भी जानकारियां मांगी गई उसके दस्तावेज भी साथ लगाने होते है, जैसे नगर निगम में कितनी गाडिय़ां है, इसकी जानकारी के साथ गाडिय़ों की लॉगबुक की प्रतियां भी साथ लगानी होती है, इसी प्रकार डोर-टू-डोर का काम गिनाया तो उसके दस्तावेज साथ लगाए गए।

अब स्टार रेटिंग भी मिलेगी
स्वच्छता सर्वेक्षण में अब तक शहरों को नंबर देकर उनकी रैंकिंग तय की जाती थी, लेकिन अब शहरों को रैंकिंग के साथ-साथ स्टार रेटिंग भी मिलेगी। अधिकतम सात स्टार रेटिंग पाने वाले शहर सबसे साफ -सुथरे होंगे, जैसे ही रेटिंग कम होगी तो उनकी रेटिंग घटती जाएगी।

टीम भी बिन बताए आएगी
अब तक नई दिल्ली से आने वाली टीम का हर सर्वेक्षण में शिड्यूल तय होता था लेकिन इस बार टीम भी आकस्मिक आएगी। टीम की जानकारी स्थानीय निकाय व शहर को नहीं होगी और टीम कभी भी आकर अपना काम कर निकल जाएगी। टीम शहर में ओडीएफ, डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण, रेलवे, बस स्टैंड व सार्वजनिक स्थानों की साफ-सफाई आदि देखकर रिपोर्ट तैयार करेगी। टीम आम जनता से भी फीडबैक लेगी।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 की खास बातें
- सर्वेक्षण 4 से 31 जनवरी तक चलेगा
- इस बार रैंकिंग भी स्टार में दी जाएगी।
- पिछली बार 4000 अंकों का सर्वे था
- इस बार 1000 बढ़ाकर इसे 5000 अंकों का किया
- सर्वे को चार भागों में बांटा गया है
- हर भाग 1250 अंकों का है

ये खास बिन्दु भी बढ़ाएंगे नंबर गेम
- डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण की स्थिति
- गीला और सूखा कचरा अलग उठा रहे या नहीं
- बाजारों में डस्टबिन की स्थिति क्या है
- स्वच्छता के प्रति लोगों के व्यवहार में परिवर्तन कितना
- कचरे से खाद बनाने पर काम किया या नहीं

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned