प्रशासन गांवों के संग अभियान में टीएडी करेगा जनहित के काम

आमजन की समस्याओं के मौके पर ही समाधान

By: bhuvanesh pandya

Published: 10 Sep 2021, 07:53 AM IST

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर. राज्य सरकार द्वारा आमजन की समस्याओं के मौके पर ही समाधान करने के लिए 2 अक्टूबर से प्रारंभ होने वाले ष्प्रशासन गांवों के संग अभियान.2021 में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा भी कई महत्त्वपूर्ण कार्यों के माध्यम से जनता को राहत दी जाएगी।813 मां.बाड़ी केन्द्रों को होगा भू.आवंटनरूजनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने बताया कि ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित होने वाले राहत के इस अनुष्ठान के तहत भवन रहित 813 मां.बाड़ी केन्द्रों को भूमि का आवंटन कराया जाएगा।

--------

इसमें बासंवाड़ा में 10ए प्रतापगढ़ में 76, डुंगरपुर.90, उदयपुर.107, चित्तौडगढ.5, आबूरोड़.10, राजसमन्द.6, पाली.9 मां.बाड़ी केन्द्रों को भूमि आंवटन होगी ।इसी प्रकार वनाधिकार अधिनियम के तहत नए व्यक्तिगत आवेदन व वनाधिकार अधिनियम के तहत नए सामुदायिक आवेदनए लंबित आवेदनों का निर्णयध्रिपोर्ट करनाए निरस्त आवेदनों की समीक्षाए लंबित डेटा एंट्री के कार्य को पूर्ण करनाए जारी वनाधिकार पत्रों के संबंध में राजस्व अभिलेखों में अंकनए लंबित प्रकरणों की फाईल बनाने संबंधी कार्यवाही की जाएगी।इन शिविरों में अनुसूचित क्षेत्र में विभिन्न श्रेणी के जलाशयों को मछुवारा समिति को आवंटन करने के लिए प्रस्ताव तैयार करनाए विभाग द्वारा निर्मित सामुदायिक केन्द्रों को विभिन्न उपयोग हेतु चिन्हित करनाए जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा गत वर्षों में बहुत से सामुदायिक केन्द्र निर्मित किये गये हैंए इन केन्द्रों में से वर्तमान में जो केन्द्र उपयोग में नहीं आ रहे उनका चिह्नीकरण कर उनका उपयोग सुनिश्चित किया जाएगा। इसके साथ ही विभाग द्वारा शिक्षा क्षेत्र में चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं व विभागीय शैक्षणिक प्रोत्साहन योजनाओं की जानकारी देनेए लंबित प्रार्थना.पत्रों को विद्यालय स्तर पर निर्णित करवानेए छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में आपूर्ति किए जा रहे पेयजल के नमूने लिए जाकर जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से जांच करवानेए छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में पानी की टंकी सफाई करवानेए पेयजल के स्रोतों की पानी की टंकी, भूमिगत पानी के टेंक आदि की नियमित सफाई, वन धन केन्द्र के बैंक अकांउट खोलने, डेटा एंट्री पूरी करने, अनुपयोगी पड़े भवनों को वनधन केन्द्र हेतु आवंटन करवाने तथा कौशल विकास के प्रशिक्षण के लिए आवेदन प्राप्त करने जैसे कार्यों को प्राथमिकता के साथ किया जाएगा।विभाग द्वारा अनुसूचित क्षेत्र, माडा क्षेत्र, बिखरी जनजाति योजना क्षेत्रए सहरिया आदिम जनजाति क्षेत्र एवं माडा कलस्टर योजना क्षेत्र अन्तर्गत जनजाति समुदाय के सर्वागीण विकास हेतु शिक्षाए स्वास्थ्य और विभिन्न योजनाओं के माध्यम से कार्य कर रहा है।

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned