scriptThe coach of the coaching in which Harsh used to teach, along with his | जिस कोचिंग में हर्ष पढ़ाता था, उसी के संचालक ने अपने साथियों के साथ की हत्या | Patrika News

जिस कोचिंग में हर्ष पढ़ाता था, उसी के संचालक ने अपने साथियों के साथ की हत्या

हत्या में सहयोग करने के लिए साथियों को दिए थे 50 हजार रुपए

उदयपुर

Published: November 19, 2021 12:12:35 am

कुछ दिन पहले राशि को लेकर हुआ था विवाद, पार्टी करने के बहाने बुलाया जंगल में
झाड़ोल (उदयपुर). फलासिया थाना क्षेत्र में बुधवार को जंगल में चट्टानों के नीचे युवक हर्ष कलाल का रक्तरंजित शव मिलने के बाद पुलिस ने इस हत्याकांड का गुरुवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। साथ दो अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।
घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक उदयपुर मनोज कुमार ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) उदयपुर अनन्त कुमार के पर्यवेक्षण, वृताधिकारी वृत झाड़ोल गिरधर सिंह, वृताधिकारी वृत कोटडा भूपेन्द्र कुमार एवं पुलिस उप अधीक्षक जिला उदयपुर प्रेम धणदे के नेतृत्व में फलासिया थाना एवं गोवर्धनविलास थाना की तीन टीमों का गठन किया। अनुसंधान में घटनास्थल का सूक्ष्मता से निरीक्षण कर एफएसएल की मोबाइल फोरेन्सिक यूनिट व डॉग स्क्वाड को बुलवाया गया और साक्ष्य संकलन किया गया। जिला उदयपुर के साइबर सेल से आवश्यक सहयोग प्राप्त किया गया। मृतक हर्ष कलाल के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया। प्रथम सूचना रिपोर्ट में अंकित तथ्यों के आधार पर संदिग्ध व्यक्तियों को डिटेन कर गहनता से पूछताछ की गई।
रीट में पास कराने व एसटीसी की डिग्री दिलाने के नाम पर ली राशि लौटाने को लेकर हुआ विवाद
अनुसंधान में ज्ञात हुआ कि संजय परमार विगत दो-तीन साल से फलासिया एवं मादड़ी क्षेत्र में कोचिंग संस्थान चलाता था। मृतक हर्ष कलाल भी संजय परमार के कोचिंग संस्थान में पढ़ाता था। हर्ष कलाल ने संजय परमार के कहने पर क्षेत्र के नवयुवकों को रीट की परीक्षा में पास करवाने तथा एसटीसी की डिग्री दिलवाने के नाम पर कुछ युवक-युवतियों से राशि प्राप्त कर संजय परमार को उपलब्ध भी करवाई थी। इस दौरान रीट की परीक्षा में पास करवाने तथा एसटीसी की डिग्री दिलवाने के नाम पर ली गई राशि एक-दो युवक-युवतियों को लौटाई थी। हर्ष कलाल एवं संजय परमार के मध्य राशि लौटाने को लेकर आपसी खींचतान हुई थी।
सिर पर बीयर की बोतल मारी, फिर पत्थरों से सिर व चेहरा कुचला
संजय परमार ने अपनी पूछताछ मे यह भी बताया कि उसकी बहन फलासिया में बीए की परीक्षा देने के लिए आती थी और हर्ष कलाल और अपनी बहन को एक दूसरे के साथ सम्पर्क करते हुए भी देख लिया था। मना करने के बावजूद भी दोनों उसकी बात नही मान रहे थे। इसी बात की मन में रंजिश रखते हुए हर्ष कलाल को ठिकाने लगाने के उदेश्य से संजय परमार ने अपने एक रिश्तेदार एवं एक साथी के साथ मिलकर योजना बनाई। रविवार शाम 6 बजे करीब हर्ष कलाल के मोबाइल फोन पर संजय परमार ने व्हाटसअप कॉल किया और उसे संस्थान के दो अन्य सीनियर लोगों के आने एवं उन्हे पार्टी देने के लिए इंतजाम करने और पार्टी के बहाने शाम को मिलने के लिए बुलाया। इस बात की जानकारी हर्ष कलाल ने अपने पिता को भी दी और तय समय पर पार्टी के इंतजाम के साथ महुदरा घाटे पर अपनी बाइक से पहुंच गया। योजनाबद्ध रूप से संजय परमार अपने साथ आए पुष्कर उर्फ पंकज आहारी एवं दिनेश भगोरा के साथ हर्ष कलाल को महुदरा घाटे पर चट्टानों पर ले गया जहां पुष्कर एवं दिनेश ने शराब पी और मौका देख कर हर्ष कलाल के सिर पर बीयर की बोतल और मौके पर उपलब्ध पत्थरों से वार कर तथा गमछङ्क्ष से गला दबा कर हर्ष कलाल की हत्या कर दी। शव को छुपाने के लिए घसीट कर पास स्थित कंदरा में फेंक दिया। इसके बाद तीनों ने हर्ष कलाल की बाइक को कंथारियां के पास बस की ओट में खडा कर दिया और पुष्कर उर्फ पंकज की मोटरसाईकल से अपने-अपने घर चले गए। संजय परमार ने हर्ष कलाल की हत्या मे सहयोग करने के लिए पुष्कर उर्फ पंकज एवं दिनेश को 50 हजार रुपए भी दिए।
मुख्य आरोपी गिरफ्तार, दो की तलाश
मृतक हर्ष कलाल का शव मिलने के तुंरत बाद उच्चाधिकारीयों के पर्यवेक्षण में तीनों टीमों ने त्वरित कार्यवाही करते हुए संजय परमार (28) पुत्र शंकरलाल परमार निवासी झुथरी थाना खेरवाड़ा को गुरुवार को झूथरी के जंगलों से गिरफ्तार किया गया। संजय परमार की सूचना पर ज्ञात हुआ है कि उसने अपने रिश्तेदार पुष्कर उर्फ पंकज अहारी निवासी काकड़धरा थाना बावलवाडा एवं परिचित दिनेश भगोरा निवासी मीठी महुडी थाना खेरवाड़ा के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। पुष्कर उर्फ पंकज अहारी एवं दिनेश भगोरा की गिरफ्तारी के लिए जगह जगह पर दबिश जारी हैं।
इस टीम ने किया खुलासा
वृताधिकारी वृत झाड़ोल गिरधर सिंह, वृताधिकारी वृत कोटडा भूपेन्द्र कुमार, पुलिस उपअधीक्षक उदयपुर प्रेम धणदे, फलासिया थानाधिकारी रामनारायण, हेमेन्द्र कुमार, जगदीश कुमार, लक्ष्मणसिंह, संजय कुमार, हितेन्द्र सिंह , करणा राम, सन्नूराम, गणेश सिंह, दिनेश सिंह, राजेन्द्रसिंह थाना गोवर्धनविलास व साईबर सेल जिला उदयपुर से गजराज व लोकेश रायकवाल कि अहम भूमिका रही।
यह था मामला
गौरतलब है कि हर्ष कलाल (२१) पुत्र कालूलाल निवासी आमलिया रविवार से लापता था। वह घर पर साथियों के साथ पार्टी की कहकर निकला था लेकिन तीन दिन तक नहीं लौटा। पिता ने गुमशुदगी का मामला फलासिया थाना में दर्ज कराया था। मंगलवार सुबह हर्ष की मोटरसाइकिल खरडिय़ा स्कूल के पास लावारिस अवस्था में मिली हैं। बुधवार सुबह करीब 11.30 बजे हर्ष का शव महुदरा घाटे में पड़ा होने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की और गुरुवार को इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया।
जिस कोचिंग में हर्ष पढ़ाता था, उसी के संचालक ने अपने साथियों के साथ की हत्या
जिस कोचिंग में हर्ष पढ़ाता था, उसी के संचालक ने अपने साथियों के साथ की हत्या

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.