बाघेला तालाब की क्षतिग्रस्त पाल का हिस्सा ढहा

ब्लॉस्टिंग में क्षतिग्रस्त हुई थी पाल

उदयपुर. कैलाशपुरी के एेतिहासिक बाघेला तालाब की क्षतिग्रस्त पाल का हिस्सा मंगलवार तड़के ढह गया। इससे लोगों की चिंता बढ़ गई। बता दें कि कुछ वर्ष पूर्व निकट ही ब्लास्टिंग के दौरान पाल क्षतिग्रस्त हुई थी।
बाघेला तालाब का अधिकांश हिस्सा पहाड़ों से संरक्षित है। इस तालाब पर धारेश्वर महादेव मंदिर के नजदीक पाल बंधी हुई है। कुछ वर्ष पूर्व पास की पहाड़ी पर ब्लॉस्टिंग की गई थी। इसमें पाल क्षतिग्रस्त हो गई थी। समय रहते इसकी मरम्मत नहीं करने से मंगलवार तड़के इसका कुछ हिस्सा ढह गया।

बजरी भी पड़ी थी
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पाल का जो हिस्सा ढहा है उसी हिस्से के पास किसी ने बजरी खाली की थी। यह हिस्सा पहले से क्षतिग्रस्त था, ऊपर से बजरी के भार से यह बजरी सहित तालाब में समा गया।

गांव के लिए खतरा बढ़ा
पाल का हिस्सा ढहने से पाल और कमजोर हुई है। यह पाल टूटती है तो कैलाशपुरी के आबादी क्षेत्र के साथ ही एकलिंगजी मंदिर के लिए खतरा बढ़ सकता है। इससे ग्रामीण चिंतित है। इस संबंध में कई बार पंचायत और जिम्मेदारों को आगाह किया गया, लेकिन अब तक पाल की मरम्मत नहीं हो पाई है।

इनका कहना है
मैं आज मिटिंग में थी। एेसे में मुझे पता नहीं कि बाघेला तालाब की पाल का हिस्सा ढह गया है। मैं पता करके बताती हूं।

- कोमल, पटवारी, कैलाशपुरी

surendra rao
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned