बाजार कर रहा सेहत से सीधा खिलवाड़

-खाद्य पदार्थों में मिलावट खतरनाक
- 20 दिन में जांचे 159 में से 86 नमूने फेल

- दीपावली सीजन में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में सामने आया डरावना सच
- अधिकांश मावा, मिठाई, दूध व अन्य खाद्य पदार्थ शामिल

- 54 प्रतिशत नमूने फेल

By: bhuvanesh pandya

Published: 20 Nov 2020, 08:47 AM IST

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. उदयपुर, राजसमन्द व चित्तौडगढ़़ में दीपावली सीजन में मिष्ठान की दुकानोंं पर परोसा गया मीठा और मावा सहित कई सजावटी खाद्य सामग्री लोगों के लिए बेहद खतरनाक साबित हो चुकी है। हालात ये है पिछले 20 दिनों में लिए 167 में से 86 नमूने फेल हो चुके हैं। इसमें से अधिकांश खाद्य सामग्री लोगों के गले भी उतर चुकी है।

-----
उदयपुर की खाद्य सुरक्षा लैब में तीन जिलों से 167 नमूने आए। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत 26 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक आए ये नमूने आए, इनमें 159 की जांच हुई, इसमें से कुल 86 नमूने फेल हुए हैं। यानी 54 प्रतिशत नमूने जांच के मापदंडों पर खरे नहीं उतरे हैं।

54 प्रतिशत नमूने फेल हुए हैं।
जिला- लिए गए नमूने- फेल

उदयपुर- 67- 30
राजसमन्द- 51- 28

चित्तौडगढ़- 49/41 जांचे/- 28
------

ये निकला नतीजा:
कुल अनसेफ- 12

कुल सब स्टेडर्ड- 38
मिस ब्रांड- 32

अन्य- 4
------

जिला- अनसेफ- सब स्टेंडर्ड-मिस ब्रांड- अन्य
उदयपुर- 4, 15, 9, 2

राजसमन्द- 4, 12, 10, 2
चित्तौडगढ़़- 4, 11, 3, 0

कार्रवाई के लिए भेज रहे हैं
पूरी इमानदारी से नमूने जांचे गए हैं, इसमें अपने सभी तीनों जिलों के 54 प्रतिशत नमूने फेल हो गए हैं। सभी पर नियमानुसार कार्रवाई के लिए सीएमएचओ कार्यालय भेजा जा रहा है तााकि आगे मिलावट को लेकर खाद्य सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई हो सके।

डॉ. रवि सेठी, खाद्य विश्लेषक अधिकारी, खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला, उदयपुर
----

अब नियमित चलेगा अभियान
राज्य में सरकार के निर्देश के तहत शुद्ध के लिए युद्ध अभियान 26 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक चलाया जाना था, लेकिन अब इसे नियमित जारी रखा जाएगा। इससे दूध का दूध और पानी का पानी सामने आएगा, जिन- जिन खाद्य सामग्री में मिलावट मिली है, उसमें व्यवसायियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

डॉ. दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned