फोन की 'निरोगी घंटी दूर भगाएगी रोग

- कॉल सेंटर खोलेगा हर बीमारी के राज, बताएगा इलाज
- निरोगी राजस्थान योजना बदलेगी चिकित्सा की तस्वीर

 

By: bhuvanesh pandya

Published: 08 Dec 2019, 02:35 PM IST

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर. आगामी 17 दिसम्बर से निरोगी राजस्थान की घंटी लोगों की बीमारी दूर भगाएगी। सरकार ऐसा कॉल सेंटर ला रही है, जिसमें कोई भी व्यक्ति कभी भी फोन लगाकर किसी भी बीमारी का उपचार जान सकेगा। हर सेंटर 24 घंटे एक्टिव रहेगा। निरोगी राजस्थान अभियान के 2 हिस्से रहेंगे। एक समर्पित वेबसाइट और कॉल सेंटर, जो स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता फैलाएंगे। इसमें सरकार वेबसाइट और एक हेल्पलाइन नंबर जारी करेगी।

----

ये होगा योजना में
योजना के तहत बुजुर्गों के लिए हर मेडिकल कॉलेज में जिरियाट्रिक डिपार्टमेंट खोला जाएगा। इसके माध्यम से प्राथमिकता के आधार पर बुजुर्गों के लिए फ्री स्वास्थ्य सेवा व जांच कार्यक्रम चलाए जाएंगे। स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम सभी स्कूलों और सार्वजनिक संस्थानों में चलाए जाएंगे। राज्य में चिकित्सा विभाग, शिक्षा विभाग और डीपीआर के माध्यम से मुख्यमंत्री निरोगी योजना जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

-----
्रये बिन्दु सबसे अहम

- लोगों को हेल्थकेयर से जुड़ी जानकारी मिलेगी।
- वेबसाइट और कॉल सेंटर प्रदेशवासियों के लिए हर बीमारी के बारे में जानकारी उपलब्ध कराएगा।

- लोग किसी भी समय स्वास्थ्य देखभाल अधिकारियों से जुड़ सकते हैं और उनसे किसी बीमारी या बीमारी के कारणों, लक्षणों के बारे में पूछ सकते हैं।
- निरोगी राजस्थान योजना का उद्देश्य स्वास्थ्य देखभाल की सुविधा और हेल्थकेयर से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराना है। विशेष बीमारियों के बारे में जानकारी दी जाएगी।

- कोई बीमार, अपनी बीमारी के बारे में ज्यादा नहीं जानता है तो टोल फ्री नंबर पर कॉल करके बीमारी के बारे में जानकारी ले सकेगा।
- कॉल सेंटर लोगों को एक अच्छी जीवन शैली के बारे में भी ज्ञान देगा।

---
आगामी दिनों में योजना की शुरुआत की जाएगी। इसके तहत टॉल फ्री नम्बर पर बात करने से बीमारी से जुड़ी जानकारी व टिप्स मिलेंगे। इस विषय पर जयपुर में होने वाली बैठक में विस्तार से बताया जाएगा।

डॉ. दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ, उदयपुर

bhuvanesh pandya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned