डेढ़ साल पहले हुई थी लव मैरिज, पति रोज करता था मारपीट, पत्नी ने तंग आकर उठाया यह कदम !

- लडख़ड़ाते हुए वह वापस अपनी मां के घर पहुंची और वहां गिर पड़ी

By: Sikander Veer Pareek

Updated: 03 Mar 2019, 12:46 PM IST

उदयपुर. पति की ओर से पीटने पर क्षुब्ध पत्नी ने घर आकर विषाक्त वस्तु का सेवन कर आत्महत्या कर ली। महिला के पिता ने दहेज हत्या व प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए धानमण्डी थाने में रिपोर्ट दी। परिजनों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने पति को हिरासत में ले लिया।

देहलीगेट शर्मा गली निवासी राहुल वैष्णव ने बताया कि उसकी भतीजी निकिता (22 ) पुत्री रमेशदास वैष्णव ने पड़ोस में ही रहने वाले नरेन्द्र प्रजापत से डेढ़ साल पहले प्रेम विवाह किया था। उसके सात माह की बच्ची भी है। आरोपी विवाह के बाद से ही निकिता को प्रताडि़त कर मारपीट करता था। पूर्व में भी निकिता अपने पीहर आ गई थी। समझाइश कर आरोपी वापस उसे अपने घर ले गया था।
राहुल का कहना है कि आरोपी ने धोलीबावड़ी रोड पर ही कचोरी-समोसे की थड़ी लगा रखी है। शनिवार शाम निकिता थड़ी पर गई। घर का सामान लाने के लिए नरेन्द्र से पैसे मांगे तो उसने भीड़ के बीच ही पत्नी के साथ मारपीट कर दी। निकिता एक बार घर लौट आई और सात माह की बच्ची को अपने पीहर में मां के सुपुर्द कर वापस कमरे में जा कर विषाक्त वस्तु का सेवन कर लिया। लडख़ड़ाते हुए वह वापस अपनी मां के घर पहुंची और वहां गिर पड़ी। परिजन बेसुध हालत में उसे एमबी चिकित्सालय ले गए, जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। सूचना पर धानमण्डी थाना पुलिस के अलावा एफएसएल टीम प्रभारी अभय प्रताप सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और कमरे की तलाशी के बाद वहां से आवश्यक साक्ष्य लिए।

 

READ MORE : महाशिवरात्रि पर उदयपुर में होंगे यह बड़े कार्यक्रम, शिवभक्तों ने की है खास तैयारी

 

विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत

उदयपुर. नाई थाना क्षेत्र में एक विवाहिता संदिग्ध हालात में फंदे पर लटकी मिली। प्रारंभिक जांच में हत्या की आशंका लगने पर पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस ने बताया कि कोडियात निवासी लहरी (35) पत्नी चुन्नीलाल गमेती सुबह कमरे में लटकी हुई थी। संदेह होने पर पुलिस ने आवश्यक साक्ष्य लिए

Sikander Veer Pareek
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned