तीन तरह के 'भार' से तीन गुना हुआ जुलाई का बिजली बिल

बिलों में जुड़ी है नई दरें और पुरानी वसूली, लॉकडाउन में मिले थे एवरेज बिल, अब बिलों में अधिक राशि से हो रही परेशानी, निगम ने बताए बिजली बिलों में अधिक राशि के कारण

By: Pankaj

Published: 24 Jul 2020, 10:40 PM IST

उदयपुर . बिजली निगम और उपभोक्ताओं के बीच बिलों पर लॉकडाउन का असर अब दिख रहा है। लॉकडाउन के दौरान निगम ने उपभोक्ताओं को एवरेज बिल दिए थे। अब जून-जुलाई में मिले बिलों में भारी भरकम राशि देखकर उपभोक्ताओं के होश उड़ रहे हैं। इस संबंध में हुई शिकायतों की जांच निगम की ओर से की गई, इसमें बिलों का हिसाब सही पाया गया। साथ ही निगम की ओर से बिलों में अधिक राशि आने के कारण भी बताए गए है।
जुलाई में मिले विद्युत बिलों में अधिक राशि को लेकर तमाम उपभोक्ता आहत है। ऐसे में उपभोक्ता निगम के दफ्तरों में चक्कर काट रहे हैं। आमतौर पर मिलने वाले बिलों से अधिक राशि का बिल पाकर उपभोक्ता आक्रोशित है। उपभोक्ताओं को समझ नहीं आ रहा कि इतनी अधिक राशि का बिल क्यों आया है। ऐसे में निगम इंजीनियर समझाइश कर रहे हैं। विद्युत निगम की ओर से जुलाई के बिजली बिलों में अधिक राशि आने के कारण बताए गए हैं।
ये बताए कारण

- लॉकडाउन अवधि में निगम की ओर से बिजली बिल सर्दियों के 4 माह (नवम्बर से मार्च) के औसत बिजली उपभोग के आधार पर जारी किए गए थे, जबकि इस अवधि में गर्मी और लोगों के घरों में रहने के कारण घरेलू बिजली उपभोग में काफी बढ़ोतरी हुई, जिसके उपभोग का बिल जुलाई में जारी हुआ है।
- राजस्थान राज्य विद्युत नियामक आयोग की ओर से फरवरी से लागू नई अनुमोदित विद्युत दरों के आधार पर जुलाई के बिल जारी किए गए हैं। नई दरों का बकाया जो मार्च से जून से संबंधित है, उसको भी जुलाई के बिलों में जोड़ा है।

- पुराना बकाया ईंधन अधिभार 1.24 रुपए की दर से वसूला जा रहा है, जो (अक्टूबर 18 से सितम्बर 19) से संबंधित है। दो मासिक किस्तों में वसूली के तहत एक किस्त जुलाई के बिल में जुड़ी है।
- विशेष ईंधन अधिभार 5 पैसे प्रति माह प्रति यूनिट की दर से वसूला जा रहा है। जो 36 मासिक किस्तों में वसूला जाना है, यह अप्रेल 18 से जून 18 तक से संबंधित है। इसे भी जुलाई के बिल में समायोजित किया है।

- जिन विद्युत कनेक्शनों का मार्च से जून तक का स्थाई शुल्क स्थगित किया गया था, उसे भी दो समान मासिक किस्तों में वसूला जा रहा है। जिसकी पहली किस्त जुलाई के बिल में जुड़कर आई है।
तय राशि का करें भुगतान

यह स्पष्ट है कि जुलाई के बिल नियमानुसार नई विद्युत दरों के आधार पर जारी किए गए हैं। इसमें किसी प्रकार का संशय या गलती नहीं है। निगम की ओर से उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए 31 जुलाई तक बिलों के आंशिक भुगतान की सुविधा दी जा रही है। उपभोक्ताओं को तय तिथि तक भुगतान करना चाहिए, ताकि किसी तरह की असुविधा ना हो।
गिरीश कुमार जोशी, एसई, उदयपुर सर्कल

Pankaj Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned