उदयपुर के इस बैंक के एटीएम में हुआ ऐसा काम, सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा, बैंक ने दिए ये आदेश

Jyoti Jain

Publish: Feb, 15 2018 09:28:39 AM (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
उदयपुर के इस बैंक के एटीएम में हुआ ऐसा काम, सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा, बैंक ने दिए ये आदेश

उदयपुर. एटीएम कार्ड का प्रयोग करने पर परिवादी की बजाए उसके बाद पहुंचा व्यक्ति पैसा लेकर रफूचक्कर हो गया जबकि...

 

उदयपुर . एटीएम कार्ड का प्रयोग करने पर परिवादी की बजाए उसके बाद पहुंचा व्यक्ति पैसा लेकर रफूचक्कर हो गया जबकि इस दौरान परिवादी केबिन में ही पासबुक की एन्ट्री करवाने रुका रहा। यह सम्पूर्ण घटनाक्रम सीडी में स्पष्ट होने पर न्यायालय ने बैंक को आदेश दिया कि वह पैसा ले जाने वाले व्यक्ति के विरुद्ध अलग से आपराधिक प्रकरण दर्ज करावें और परिवादी को उसके खाते से निकले 14500 रुपए लौटावें। स्थाई लोक अदालत ने यह आदेश विनोद कालरा बनाम बैंक ऑफ बड़ौदा के प्रकरण में दिया।

 

सेक्टर-9 निवासी कालरा ने परिवाद में बताया कि एटीएम कार्ड का प्रयोग किए जाने पर उसे पैसा प्राप्त नहीं हुआ लेकिन उसके खाते से राशि की कटौती हो गई, यह भुगतान विपक्षी बैंक की एटीएम मशीन द्वारा होने पर उसे पैसा नहीं लौटाया गया।

 

 

-- न्यायालय ने देखी सीडी विवाद के निस्तारण के लिए न्यायालय ने प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत का प्रयोग कर बैंक से संबंधित एटीएम ट्रांजेक्शन के सीसीटीवी फुटेज मंगवाए। फुटेज को पक्षकार, अधिवक्ताओं की उपस्थिति में न्यायालय ने कम्प्यूटर पर देखा। सीडी के अवलोकन से स्पष्ट हुआ कि परिवादी ने 13.51 बजे संबंधित एटीएम में प्रवेश कर 2 नम्बर की मशीन पर कार्ड लगाया। पैसा नहीं मिलने पर वह पास ही केबिन नम्बर 3 पर पासबुक एन्ट्री के लिए चला गया। इसी दौरान 13.52 पर एक अन्य व्यक्ति एटीएम में प्रवेश के लिए गया, उसने एटीएम कार्ड मशीन में नहीं डाला, इसके पूर्व ही मशीन द्वारा पैसे को स्वयं के हाथ में लेकर पर्स में डालकर बाहर चला गया। इस दौरान परिवादी एन्ट्री मशीन पर ही मौजूद रहा।

 

-- अलग से दर्ज हो प्रकरण सीडी अवलोकन के बाद न्यायालय ने माना कि संबंधित एटीएम ट्रांजेक्शन के अधीन पैसा निकाला गया है, किन्तु उक्त पैसा प्रार्थी द्वारा प्राप्त नहीं किया, किसी तीसरे व्यक्ति द्वारा दुर्भावनापूर्ण आशय वह राशि लेकर चला गया, यह पृथक से एक आपराधिक कृत्य है। बैंक भी इस संबंध में पुलिस से संबंधित सक्षम अधिकारी के समक्ष सहयोग लेकर कार्रवाई करें तथा परिवादी को 14500 की राशि भुगतान करें।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned