कोटड़ा में नकाबपोशों ने परिवार पर किया हमला, किशोर की मौत, मां-बाप व तीन भाई घायल

कोटड़ा में नकाबपोशों ने परिवार पर किया हमला, किशोर की मौत, मां-बाप व तीन भाई घायल

By: Mohammed illiyas

Published: 10 Mar 2019, 10:37 PM IST

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
कोटड़ा थाना क्षेत्र के बिलवन गांव में शनिवार रात छह नकाबपोश लुटेरों ने जाग होने पर परिवार पर हथियारों से ताबड़-तोड़ हमला कर दिया जिसमें एक किशोर की मृत्यु हो गई, वहीं उसके मां-बाप, भाइयों सहित पांच जने घायल हो गए। घटना के बाद क्षेत्र में आक्रोश फैल गया। एहतियान पानरवा, मांडवा थाने का पुलिस जाप्ता मौके पर बुलाना पड़ा। पुलिस ने समझाइश कर मृतक का पोस्टमार्टम करवा अन्त्येष्टि करवाई तथा हत्या व लूट के प्रयास का मामला दर्ज किया।कोटड़ा थानाधिकारी देवीसिंह ने बताया कि बिलवन निवासी धर्मा (55) पुत्र नानजी गोराण के मकान पर रात करीब 2 बजे छह नकाबपोश अलग-अलग रास्ते से घुसे। जाग होने पर धर्मा की पत्नी व चारों पुत्र हल्ला करते हुए बाहर निकले। नकाबपोशों ने परिवार पर लठ, तलवार व अन्य हथियारों से ताबड़-तोड़ हमला बोल दिया। इसमें धर्मा के सबसे छोटे पुत्र दिनेश (13) की सिर पर गहरी चोट लगने से मृत्यु हो गई, वहीं धर्मा (55), उसकी पत्नी सविता (50), पुत्र नाथू (23), केवलाराम (20), बदाराम (25) घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को कोटड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने दिनेश को मृत घोषित कर दिया। अपराह्न में पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पुलिस की मौजूदगी में शाम को मृतक का दाह संस्कार किया गया।

--

छह घंटे घर पर कराहते रहे सभी
घटना रात करीब 2 बजे हुई। लोगों ने सुबह करीब 8.15 बजे थाने पर सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सभी को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। करीब छह घंटे तक घायलावस्था में घर पर ही पड़े रहने से दिनेश की सिर में अंदरुनी चोट के कारण मौत हो गई। नाथू को हालत गंभीर होने से रेफर किया। पुलिस ने घटना के बाद घायलों के बयान के साथ ही घटना स्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए।

--

मकान मालिक ने देख लिया था हमलावरों को
धर्मा ने बयान में बताया कि कुछ दिनों पूर्व ही उसने घर के पास वाली झोपड़ी पर बोरिंग करवाई थी। रात को वह निगरानी के लिए झोपड़ी में सो गया। करीब 2 बजे उसने मकान की तरफ तीन नकाबपोश को जाते देखा तो वह उठकर चुपके से पीछे जाने लगा, तभी दूसरे छोर पर खड़े तीन अन्य नकाबपोश ने उसे पीछे से पकड़ लिया। उसके चिल्लाते ही सभी परिजन हल्ला करते हुए बाहर निकले और उनका नकाबपोशों से आमना-सामना हो गया। हमलावरों ने ग्रामीणों के पहुंचने से पहले लठ, तलवार व अन्य हथियार से ताबड़तोड़ हमला कर भाग निकले। हमलावरों के नकाबपोश होने से उनकी पहचान नहीं हो पाई। पुलिस अब गांव में आरोपियों व उनके भागने वाले रास्ते के आधार पर उनका पता लगाने में जुटी है।

Mohammed illiyas Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned